डीआरआई ने किया अवैध आयात कारोबार का भंडाफोड़

जमानत याचिका खारिज,दस दिनों की न्यायिक हिरासत जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : विदेशों से अवैध तरीके से रेडीमेड कपड़े और जूता आयात करने वाले नेटवर्क का भंडाफोड़ हुआ है। इस मामले में खुफिया राजस्व निदेशालय (डीआरआई) की टीम ने दो व्यवसाइयों को गिरफ्तार किया है। दोनों पड़ोसी राज्य सिक्किम के निवासी हैं। शुक्रवार आरोपियों को सिलीगुड़ी अदालत में पेश किया गया। अदालत ने दोनों को दस दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते 6 सितंबर को डीआरआई की टीम ने करीब डेढ़ करोड़ रुपया का विदेशी कपड़ा व जूता जब्त किया था। इसी मामले की जांच के क्रम में सिक्किम के दो कपड़ा व्यापारी को गिरफ्तार किया है। आरोपियों का नाम रेधा छीरिग भूटिया (52) व रिनजिंग भूटिया (39) है। रेधा छीरिग पड़ोसी राज्य सिक्किम के गंगटोक के चांदमारी जेएन रोड इलाके का निवासी है, वहीं दूसरा रिनजिंग भूटिया गंगटोक के ही अपर यांगछेन का रहने वाला है। डीआरआई पक्ष के वकील त्रिदीप साहा ने बताया कि जांच में पाए गए तथ्यों के आधार पर ये दोनों वियतनाम से कपड़े व जूते अवैध तरीके से नेपाल के रास्ते आयात करते थे। इन कपड़ो और जूतों को सिक्किम के साथ देश के अन्य राज्यों में भी भेजा जाता था। तथ्यों के आधार पर ही डीआरआई ने दोनों को गिरफ्तार किया है। जमानत याचिका नामंजूर कर अदालत ने दोनों आरोपियों न्यायिक हिरासत में भेजा है। दोनों को 25 नवंबर फिर से अदालत में पेश किया जाएगा। बचाव पक्ष के वकील अखिल विश्वास ने बताया कि विदेशों से कपड़ा व जूता अवैध तरीके से आयात करने के आरोप में गिरफ्तार दोनों आरोपी सिक्किम के नामचीन व्यापारी है। ये दोनों कस्टम के सभी नियमों को मानकर ही विदेशों से कपड़ा व जूता आयात करते थे। आयात के सभी कागजात अदालत में पेश किया गया है। अदालत ने दोनों आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजते हुए साक्ष्यों की जांच करने का निर्देश डीआरआई को दिया है।

 

सौजन्य से:दैनिक जागरण

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics