बजट में 300 से अधिक वस्तुओं पर बढ़ सकती है कस्टम ड्यूटी

नई दिल्ली
केंद्र सरकार देश के लघु तथा मझोले उद्योग को बढ़ावा देने के लिए आगामी बजट में 300 वस्तुओं पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाने पर विचार कर सकती है। इनमें खिलौने, फर्निचर, फुटवियर, कोटेड पेपर, रबर से जुड़ी वस्तुएं शामिल हो सकती हैं। केंद्र सरकार का यह कदम घरेलू उद्योग को राहत और रोजगार को बढ़ावा देने के अलावा, आयात में कमी और राजस्व को बढ़ाने में सहायक साबित हो सकता है। इनमें कई उद्योग ऐसे हैं, जो लघु तथा मझोले सेक्टर्स के हैं और भारी तादाद में रोजगार प्रदान करते हैं।

अपनी बजट सिफारिशों में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने फर्नीचर, केमिकल्स, रबर, कोटेड पेपर तथा पेपर बोर्ड्स सहित कई सेक्टर्स में 300 से अधिक वस्तुओं पर बेसिक कस्टम्स को तर्कसंगत बनाने का प्रस्ताव रखा है।

फुटवियर पर 35% ड्यूटी की सिफारिश
मंत्रालय ने फुटवियर तथा इससे जुड़े उत्पादों पर कस्टम्स ड्यूटी को मौजूदा 25% से बढ़ाकर 35% करने, जबकि रबर के नए न्यूमेटिक टायरों पर कस्टम ड्यूटी को मौजूदा 10-15% से बढ़ाकर 40% करने का प्रस्ताव रखा है।

फर्नीचर पर 30% ड्यूटी

मंत्रालय ने लकड़ी के फर्नीचर पर कस्टम ड्यूटी मौजूदा 20% से बढ़ाकर 30% करने का प्रस्ताव रखा है। वहीं, कोटेड पेपर, पेपर बोर्ड्स तथा हस्तनिर्मित पेपर्स पर ड्यूटी को दोगुना बढ़ाकर 20% करने का प्रस्ताव रखा है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

खिलौनों पर 100% तक ड्यूटी
लकड़ी, धातु तथा प्लास्टिक के खिलौनों पर कस्टम ड्यूटी को मौजूदा 20% से बढ़ाकर 100% तक करने का प्रस्ताव रखा है।

 

सौजन्य से: नवभारत टाईम्स