इंदौर. इंदौर और उज्जैन में गुटखा, पाउच, मसाले के कारोबाारियों के 16 ठिकानों पर 3 दिन की कार्रवाई में 225 करोड़ की जीएसटी की चोरी सामने आई है। डायरेक्टोरेट आफ जीएसटी इंटेलीजेंस (डीजीजीआई) और डायरेक्टोरेट आफ रिवेन्यू इंटेलीजेंस (डीआरआई) ने 9 से 12 जून के बीच में यह कार्रवाई की थी। शनिवार को भी विभाग की कार्रवाई जारी है, जो अभी एक से दो दिन और चलने की संभावना है।

डीजीजीआई द्वारा बताया गया है कि छापे के दौरान पौने दो करोड़ का माल सीज किया गया है। 15 मशीन भी गुटखा, मसाला बनाने की मिली है, जो रजिस्टर्ड नहीं थी, वहीं 10 ट्रक भी माल परिवहन के उपयोग करते हुए पकड़े गए हैं। इसके साथ दो करोड़ 92 लाख रुपए भी नकद में मिले हैं। जांच में यह भी सामने आया कि इस कारोबार में लिप्त कारोबारी पाकिस्तानी पासपोर्ट धारक हैं, जिसे गिरफ्तार किया गया है। दो अन्य को भी विभाग ने गिरफ्तार किया है। हालांकि विभाग ने गिरफ्तार व्यक्तियों और मास्टरमाइंड का खुलासा नहीं किया है। इसके पीछे विभाग का कहना है कि अभी भी कार्रवाई जारी है।

 

 

30 लोगों ने कार्रवाई रोकने की कोशिश की
विभाग की ओर से बताया गया कि उनकी कार्रवाई रोकने की कोशिश की जा रही है। एक घर पर छापे में और फिर अगले दिन एक फैक्टरी में जांच के दौरान 20-30 लोगों ने अधिकारियों के साथ गलत व्यवहार किया और शासकीय काम में बाधा डाली।

ऑपरेशन का नाम रखा  कर
विभाग ने सबसे ज्यादा टैक्स दर वाली वस्तु गुटखा, पाउच होने, ज्यादा टैक्स चोरी की आशंका और इसे खाने से कैंसर (कर्क) होने के कारण पूरे ऑपरेशन का नाम आपरेशन ‘कर’ रखा है।

 

सौजन्य से: दैनिक भास्कर

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics