सेन्ट्रल एक्साइज अधिकारियों के साथ कारोबारियों ने किया दुर्व्यवहार

गाजियाबाद : कविनगर में लोहा कारोबारी आदित्य गर्ग के निवास पर छापा मारने पहुंची सेंट्रल एक्साइज विभाग की खुफिया इकाई मेरठ जोन की टीम को कारोबारियों के विरोध का सामना करना पड़ा। कारोबारियों ने टीम के सदस्यों के साथ धक्का-मुक्की की और दस्तावेज फाड़ दिए। अधिकारियों ने पुलिस को मामले से सूचित कराया। इसके बाद पुलिस ने मौके से कारोबारियों को थाने बुला लिया। अधिकारियों की तहरीर पर पांच के खिलाफ नामजद और लगभग 40 अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।
एक्साइज विभाग नोएडा की खुफिया इकाई को लोहा कारोबारी आदित्य गर्ग के खिलाफ करोड़ों के टैक्स की हेराफेरी किए जाने की सूचना मिली। बृहस्पतिवार सुबह टीम छापेमारी के लिए कविनगर स्थित उनके निवास स्थान पर पहुंची। इसमें विभाग के इंस्पेक्टर पंकज तिवारी, सुपरिटेंडेंट संजय शर्मा व संजय चौबे सहित अन्य दो अधिकारी मौजूद थे। छापे की सूचना के साथ ही कई कारोबारी नेता भी मौके पर पहुंच गए। अधिकारियों का आरोप है कि कारोबारियों ने सरकारी कार्य में बाधा डालते हुए दस्तावेज उनके हाथ से छीन लिए और धक्का-मुक्की करने लगे। सूचना मिलने पर गाजियाबाद से एक्साइज विभाग के अधिकारी और कविनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस की मौजूदगी में विभाग की टीम ने अपना काम शुरू किया। लगभग पांच घंटे तक अधिकारी दस्तावेजों को एकत्रित करने में लगे रहे। इस दौरान कई कारोबारी नेता आदित्य गर्ग के निवास पर आते रहे।
20 करोड़ की टैक्स चोरी का मामला
टीम में शामिल अधिकारियों ने बताया कि आदित्य गर्ग लोनी स्थित प्रति मशीन के साथ संयुक्त रूप से कारोबार कर रहे हैं। दोनों ने ज्वाइंट वेंचर में करोड़ों के टैक्स की चोरी की है। फर्जी बिलों के जरिए लगभग 20 करोड़ के टैक्स की चोरी सामने आई है। इसके अलावा लगभग 50 करोड़ की इनकम टैक्स चोरी का मामला भी प्रकाश में आया है। उन्होंने बताया कि व्यापारियों ने बोगस बिलों के जरिए 250 करोड़ की सेल परचेज दिखाई है। मामले की जांच की जा रही है।
अन्य जगहों पर भी कई गई छापेमारी
सेंट्रल एक्साइज विभाग द्वारा अन्य स्थानों पर भी छापेमारी की सूचना है। विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार टीम ने लोहा कारोबारी दीपक और कुलदीप के यहां से भी दस्तावेज एकत्रित किए हैं।
एक्साइज विभाग के अधिकारियों की तहरीर पर शिवशंकर राठी, मधुकर सिंघल, सुभाष गुप्ता, सुबोध गुप्ता व आदित्य गर्ग के खिलाफ नामजद व लगभग 40 के खिलाफ अज्ञात में मामला दर्ज किया गया है। इन कारोबारियों पर सरकारी काम में बाधा डालने, धक्का-मुक्की करने और दस्तावेज फाड़ने के तहत धाराएं लगाई गई हैं।
स्रोत ; दैनिक जागरण

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics