सीबीईसी के वार्षिक सम्मेलन में मुख्य आयुक्तों व महानिदेशकों को वित्तमंत्री ने दिया विजय मंत्र

सीबीईसी के वार्षिक सम्मेलन में मुख्य आयुक्तों व महानिदेशकों को वित्तमंत्री ने दिया विजय मंत्र

सीमा शुल्क केंद्रीय उत्पाद शुल्क एवं सेवाकर विभाग के मुख्य आयुक्तों व महानिदेशकों को वित्त मंत्री ने कहा 6.23 लाख करोड़ रुपए का अप्रत्यक्ष रेवेन्यू लक्ष्य चुनौतीपूर्ण जरूर है लेकिन आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए यह आवश्यक 

नई  दिल्ली : सीमा शुल्क केंद्रीय उत्पाद शुल्क एवं सेवाकर विभाग के मुख्य आयुक्तों, महानिदेशकों के दो दिवसीय वार्षिक अखिल भारतीय सम्मलेन का दिल्ली के विज्ञान भवन में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन किया। दो दिनों तक चलने वाले इस सम्मलेन में पिछले वित्तवर्ष में विभाग के प्रदर्शन, अप्रत्यक्ष कर प्रणाली की चुनौतियों, राजस्व बढ़ाने के उपायों आदि विषयों पर चर्चा होनी है। इस सम्मलेन के उद्घाटन के अवसर पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सीमा शुल्क व उत्पाद शुल्क के मुख्य आयुक्तों व महानिशकों को सम्बोधित किया अपने सम्बोधन में वित्त मंत्री ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में अप्रत्यक्ष कर संग्रह का 6.23 लाख करोड़ रुपए का लक्ष्य चुनौतीपूर्ण जरूर है लेकिन आर्थिक वृद्धि को गति दे कर इसे प्राप्त करने के प्रयास किए जा रहे हैं। वित्त मंत्राी ने  कहा कि  इस फिक्सल में अप्रत्क्ष कर संग्रह का लक्ष्य  6,23,244 करोड़ रुपये रखा गया है। जेटली ने कहा कि आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिये सरकार ने पिछले कुछ महीनों में विनिर्माण तथा इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्रों में सुधार पर ध्यान केंद्रित किया है। जहां तक भारतीय अर्थव्यवस्था का प्रश्न है, पिछले कुछ साल कठिन रहे हैं पिछले कुछ साल में जबकि आर्थिक वृद्धि नरम रही है, साथ ही खासकर विनिर्माण क्षेत्रा में वृद्धि या तो स्थिर रही या उसमें नकारात्मक वृद्धि हुई। परिणामस्वरूप कुछ अप्रत्यक्ष कर प्रभावित हुए। हालांकि सरकार ने इन क्षेत्रों में सुधार के लिये पिछले दो महीनों में बजट प्रक्रिया और उससे बाहर कई कदम उठायें हैं। उन्होंने कहा कि इस साल जून और जुलाई में विनिर्माण क्षेत्रा से संबंधित आंकड़ें उत्साहवर्धक हैं। अगर अगले कुछ महीनों तक यह प्रवृत्ति बनी रहती है, तो तभी यह प्रतिरूप बनेगा। इस अवसर पर सीबीईसी की अध्यक्ष जे एम शांति सुंदरम, रेवेन्यू सचिव शक्तिकांत दास, व कौशल श्रीवास्तव भी मौजूद थे।

रेवेन्यू सचिव शक्तिकांत दास ने टीएफए को भारत के पक्ष में बताया। साथ ही उन्होंने कहा कि वित्तमंत्री अरूण जेटली ने अपने बजट में देश के कई एयरपोर्ट्स, ड्राईपोर्ट्स, और सीपोर्ट्स पर काफी सुविधाओं में बढ़ोतरी की है और अब इन पोटों‍र् पर तैनात अधिकारियों को इनको लागू करने की आवशकता है।

सीबीईसी की चेयरमैन जे.एम. शांति सुंदरम ने कहा कि सीबीईसी ने करदाताओं को टैक्स दर कम करने के भी कई उपाय किये हैं।  इस सम्मेलन में योजना आयोग के पूर्व सदस्य श्री सौमित्रा चौधरी, बी.एन. बनर्जी भी व्याख्यान देंगे, जबकि कैबिनेट सचिवालय के सचिव (पीएमडी) डॉ. प्रजापति त्रिवेदी ‘फ्रंटियरर्स ऑफ न्यूज़ पब्लिक मैनेजमेंट’ विषय पर बोलेंगे। सम्मलेन के  दूसरे दिन वित्त राज्य मंत्री सुश्री निर्मला सीतारमण समापन संबोधन करेंगी। इस अवसर पर सर्विस टैक्स के बारे में एक फिल्म भी जारी की जाएगी।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics