रियल एस्टेट कंपनी शाइन सिटी पर सर्विस टैक्स विभाग की छापेमारी

लखनऊ : देश का सर्विस सेक्टर जीडीपी में सबसे अहम योगदान रखता है और वर्तमान आर्थिक हालातो के देखते हुए मोदी सरकार ने देशभर में कालेधन और टैक्स चोरी को लेकर गंभीरता दिखानी शुरू कर दी है। सरकार अब सर्विस टैक्स चोरों पर शिकंजा कसने की पूरी तैयारी कर चुकी है इसीलिए देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में सर्विस टैक्स चोरी के बढ़ते मामलों को देखते हुए छापेमारी का क्रम शुरू कर दिया गया है। छापेमारी के क्रम में सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट ने रियल एस्टेट कंपनी शाइन सिटी को चुना। सर्विस टैक्स और एक्साइज इंटेलिजेंस की टीमों ने 15 सितम्बर को एक संयुक्त ऑपरेशन के तहत शाइन सिटी के कई दफ्तरों पर छापेमारी की।service tax

रियल एस्टेट कंपनी पर आरोप था कि कंपनी के मालिक रशीद नसीम 15 -16 कंपनियां चला रहे हैं जिसमे धड़ल्ले से सर्विस टैक्स की चोरी की जा रही है। अब इस छापेमारी के बाद शाइन सिटी के चेयरमैन रशीद नसीम ने अपना जुर्म भी स्वीकार कर किया है कि उसने बड़ी मात्र में सर्विस टैक्स की चोरी की और उसने सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट के सामने डेढ़ करोड़ रूपये सरेंडर भी कर लिए।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिन पांच ठिकानो पर छापेमारी की गई ये ठिकाने लखनऊ के गौतमीनगर और एक रायबरेली के पीजीआई क्षेत्र में मौजूद है।

सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट के अनुसार सर्विस टैक्स की उत्तरप्रदेश में बड़ी मात्रा में चोरी की जा रही है जिससे रेवेन्यू को भारी नुकसान पंहुचा है। डिपार्टमेंट के अनुसार अभी तक प्रदेश की 20 करोड़ की आबादी पर सिर्फ 43 हजार करोड़ रुपये ही सर्विस टैक्स के मिल पा रहे हैं. जबकि 6 करोड़ की आबादी वाला गुजरात हमसे चार हजार करोड़ रुपये अधिक रेवेन्यू प्राप्त करता है। इतना ही नहीं कर्नाटक में साढ़े आठ करोड़ की आबादी पर 77 हजार करोड़ रुपये और महाराष्ट्र में 11 करोड़ की आबादी पर 85 हजार करोड़ रुपये का रेवेन्यू कामर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट प्राप्त करता है।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics