भ्रष्ट अफसरों से निपटा जायेगा : रेवेन्यू सेक्रेटरी

नई दिल्ली : देश के नए रेवेन्यू सेक्रेटरी हसमुख अधिया ने इस आरोप को गलत बताया है कि भारतीय टैक्स अधिकारी ‘टैक्स आतंक’ फैलाते हैं। हालांकि, इसके साथ ही उनका कहना था कि टैक्स डिपार्टमेंट में ‘बुरे लोगों’ की पहचान कर उनसे निपटा जाएगा। अधिया ने टैक्स से जुड़े सभी मामलों में निष्पक्ष और सही फैसला करने का वादा किया। Hasmukh-Adhia-ep-l

उन्होंने रेवेन्यू सेक्रेटरी के तौर पर कार्यभार  संभालने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि किसी तरह का टैक्स आतंक है। प्रत्येक डिपार्टमेंट में अच्छे और बुरे लोग होते हैं। मैं यह नहीं कह रहा कि ऐसा केवल टैक्स डिपार्टमेंट में है। हम टैक्स से जुड़े सभी फैसलों में निष्पक्ष रहेंगे।’ इससे पहले अधिया डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज के प्रमुख रह चुके हैं, जहां उन्होंने जन धन योजना को सफलता से लागू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर टैक्स डिपार्टमेंट में ट्रांसपैरेंसी लाने के साथ ही रूल्स और प्रोसिजर्स को आसान बनाना उनकी प्रायरिटी में सबसे ऊपर हैं। उनका कहना था, ‘इसका यह मतलब भी होगा कि हम डिपार्टमेंट में उन बुरे लोगों की पहचान करना चाहेंगे जिनकी वजह से डिपार्टमेंट का नाम खराब हुआ है और हम उनसे निपटेंगे जिससे वे बिजनेस के लिए एनवायरमेंट और खराब न कर सकें।’ उन्होंने कहा कि डिपार्टमेंट में बहुत से अच्छे अधिकारी हैं जिन्होंने यह सुनिश्चित किया है कि डिपार्टमेंट ठीक तरीके से काम करे। इसके साथ ही कुछ ऐसे लोग भी हैं जो ज्यादा सहयोग नहीं करते। डिपार्टमेंट में अच्छे और बुरे लोगों के बीच अंतर करने की जरूरत है। उन्होंने टैक्सेशन से जुड़े रिफॉर्म्स के साथ ही प्रोसिजर आसान करने को लेकर सुझाव मांगे और कहा कि कोई भी व्यक्ति उनके व्यक्तिगत ईमेल पर उनसे संपर्क कर सकता है। अधिया का कहना था, ‘मैं प्रत्येक व्यक्ति को यह आश्वासन दे सकता हूं कि व्हिसलब्लोअर्स भी मुझे बिना किसी झिझक के लिख सकते हैं। कोई अन्य व्यक्ति मेरी ईमेल नहीं खोल सकता। लोग किसी भी गड़बड़ी की जानकारी या टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन में सुधार को लेकर सुझाव सहित सभी तरह की जानकारी दे सकते हैं।’ उन्होंने बताया कि इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से टैक्स डिपार्टमेंट में ट्रांसपैरेंसी लाने पर सबसे पहले ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि टैक्सेज के एडमिनिस्ट्रेशन में इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का बड़े स्तर पर इस्तेमाल करने की जरूरत है। अधिया ने कहा कि अगले कुछ महीनों में टैक्स कानूनों, रूल्स और प्रोसिजर्स को आसान बनाना उनकी प्रायरिटी में शामिल होगा। इसके अलावा वह जीएसटी को लेकर केंद्र और राज्य सरकारों की तैयारी की समीक्षा करेंगे। सरकार अगले वर्ष एक अप्रैल से जीएसटी को लागू करना चाहती है। उनका कहना था, ‘संविधान संशोधन बिल, जीएसटी सेंट्रल एक्ट पास होने के साथ इसे लागू करने के लिए तैयारी रखनी होगी।’ अधिया ने बताया कि वह राज्यों में जाकर जीएसटी को लेकर तैयारी का जायजा लेंगे।

स्रोत : ईटी

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics