बांग्लादेश ने बढ़ाई कस्टम ड्यूटी, इंडिया का टी एक्सपोर्ट 90% घटा

कोलकाता : भारत से पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश को किया जाने वाले टी-एक्सपोर्ट चालू वित्त वर्ष के पहले छह महीने में 90 फीसदी घट गया है। बांग्लादेश की तरफ से चाय आयात पर ड्यूटी बढ़ाने के कारण भारत से इसके एक्सपोर्ट में गिरावट आई है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि यह गिरावट ऐसे समय में आई है, जब टी-एक्सपोर्टर्स को यूक्रेन और रूस के बीच जारी राजनीतिक तनाव, पश्चिम एशिया संकट और पाकिस्तान में बवाल के कारण कमजोर डिमांड का सामना करना पड़ रहा है।
टी-बोर्ड ऑफ इंडिया के आंकड़ों के मुताबिक, सितंबर 2014 को खत्म छह महीने में बांग्लादेश को किया जाने वाला टी-एक्सपोर्ट घटकर 4.6 लाख किलोग्राम रह गया है, जो एक साल पहले की समान अवधि में 50.2 लाख किलोग्राम था। बांग्लादेश में भारतीय चाय के लिए प्रति यूनिट मिलने वाली कीमत भी घटकर 92.61 किलोग्राम रह गई है, जो एक साल पहले 107.47 रुपये प्रति किलोग्राम थी। बांग्लादेश में अतिरिक्त सप्लाई के कारण चाय की कीमतों में गिरावट आ गई थी, जिससे इंपोर्ट को हतोत्साहित करने के लिए सरकार ने पिछले साल अप्रैल में चाय पर कस्टम ड्यूटी को 5 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दिया था। कस्टम ड्यूटी बढ़ने का सीधा असर भारत से होने वाले चाय एक्सपोर्ट पर पड़ा है।
दक्षिण भारत से बड़ी तादाद में चाय का एक्सपोर्ट बांग्लादेश को होता है। इंडियन टी एसोसिएशन (आईटीए) के चेयरमैन ए एन सिंह ने इकनॉमिक टाइम्स को बताया, ‘पिछले साल भारत ने बांग्लादेश को करीब 140 किलोग्राम चाय का एक्सपोर्ट किया था, लेकिन इस साल यहां से निर्यात बिलकुल ठप है। यह इंडस्ट्री के लिए चिंता की बात है।’ उन्होंने बताया यूनिट प्राइस रियलाइजेशन में भी गिरावट आई है।
जयश्री टी एंड इंडस्ट्रीज के मैनेजिंग डायरेक्टर डी पी माहेश्वरी ने बताया कि जब तक बांग्लादेश इंपोर्ट ड्यूटी नहीं घटाता है, तब तक भारतीय चाय कंपनियों के लिए वहां एक्सपोर्ट बढ़ाने में मुश्किल होगी। कुछ प्रमुख मार्केट्स में बढ़ते राजनीतिक तनाव के कारण भी भारतीय चाय निर्यात पर बुरा असर पड़ा है। एक्सपोर्टर्स का कहना है कि मौजूदा समस्या ने दुनिया भर के बायर्स को स्टॉक बनाने को लेकर सतर्क कर दिया है। आईटीए चेयरमैन का कहना है, ‘इस साल बायर्स कम ऑर्डर्स दे रहे हैं। इसका असर जुलाई-सितंबर क्वॉर्टर के एक्सपोर्ट पर पड़ा है।’ टी बोर्ड ऑफ इंडिया के मुताबिक भारत ने अप्रैल-सितंबर 2014 के बीच 867.7 लाख किलोग्राम चाय का एक्सपोर्ट किया, जबकि एक साल पहले की समान अवधि में 957.0 किलोग्राम चाय का निर्यात किया गया था। इस पीरियड में रुपये में एवरेज प्राइस रियलाइजेशन भी 6 फीसदी से अधिक गिरा है। वहीं, पाकिस्तान केन्या से ज्यादा चाय खरीद रहा है। केन्या की चाय भारत की तुलना में सस्ती है।
स्रोत; इकनॉमिक टाइम्स

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics