बहादुरगढ़ की एनर्जी कंपनी पर 3 करोड़ 70 लाख की टैक्स चोरी पकड़ी

रोहतक : केंद्रीय उत्पाद शुल्क के मंडल आयुक्त की टीम ने करीब चार करोड़ रुपये के सर्विस टैक्स चोरी के मामले में बहादुरगढ़ की निजी कंपनी के निदेशक राजेंद्र ¨सह को गिरफ्तार किया है। टीम ने बहादुरगढ़ स्थित सांगा एनर्जी कंपनी से करीब एक साल पहले सेवाकर की यह चोरी पकड़ी थी। बार-बार नोटिस दिए जाने के बाद भी निदेशक पेश न होने पर बृहस्पतिवार को टीम ने उसे गिरफ्तार किया है। निदेशक को टीम के सदस्यों ने बृहस्पतिवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी लोकेश गुप्ता की अदालत में पेश किया, जहां से उसे 11 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। निदेशक पर करीब 3 करोड़ 70 लाख रुपये सेवाकर चोरी का आरोप है और इस राशि का एक करोड़ से भी ज्यादा ब्याज बनता है। कंपनी की ओर से मात्र 36 लाख 82 हजार रुपये ही सर्विस टैक्स जमा कराया गया है। वहीं, कंपनी ने सर्विस टैक्स के रूप में 77.65 लाख रुपये इकट्ठा तो किया लेकिन उसे जमा नहीं कराया।
जानकारी के अनुसार केंद्रीय उत्पाद एवं शुल्क के मंडल आयुक्त की एक टीम ने 30 जनवरी 2014 को बहादुरगढ़ स्थित सांगा एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का निरीक्षण किया था। यह कंपनी हाई वोल्टेज ट्रांसमिशन लाइनों को स्थापित करने का काम करती है। टीम ने जब कंपनी के अकाउंट की जांच की तो पता चला कि कंपनी ने 2009-10 से लेकर 2014-15 तक करीब 37 करोड़ 52 लाख रुपये का टर्नओवर दिखाया था। जिसका सर्विस टैक्स 3 करोड़ 69 लाख 12 हजार 483 रुपये बनता है, जिसमें से कंपनी ने मात्र 36 लाख 82 हजार रुपये की सरकार के खाते में जमा कराए हैं। इसके अलावा टाटा पावर प्रोजेक्ट कंपनी ने सांगा कंपनी को 66 लाख 92 हजार रुपये सर्विस टैक्स के रूप में दिए लेकिन सांगा कंपनी की ओर से यह राशि भी सरकार के खाते में जमा नहीं कराई गई। कंपनी ने इस राशि समेत सर्विस टैक्स के रूप में करीब 77 लाख 65 हजार रुपये का सर्विस टैक्स वसूला है। इसके अलावा राजेंद्र पर अकाउंट के दस्तावेजों में हेराफेरी करने, टैक्स जमा न करने के लिए टालमटोल करने आदि के आरोप लगाए गए हैं।
बार-बार भेजे समन, नहीं हुए पेश
केंद्रीय उत्पाद शुल्क की टीम ने एक साल के दौरान कई बार नोटिस भेजा लेकिन कंपनी के निदेशक राजेंद्र सांगा एक बार भी पेश नहीं हुए। बृहस्पतिवार को भी केंद्रीय उत्पाद शुल्क के मंडल आयुक्त कार्यालय में कार्यरत अधीक्षक अनिल कुमार ने फिर से नोटिस भेजकर बुलाया। दोपहर को जब वे कार्यालय में आए जो उन्हें गिरफ्तार कर लिया तथा उन्हें मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी लोकेश गुप्ता की अदालत में पेश किया, जहां से उसे 11 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।
कोर्ट से बाहर निकलते ही लड़खड़ा कर गिर गए सांगा
केंद्रीय उत्पाद शुल्क मंडल आयुक्त कार्यालय की टीम के सदस्य जब कंपनी के निदेशक राजेंद्र सांगा को कोर्ट से बाहर लेकर आए और उसे कार में बैठाने लगे तो राजेंद्र अचानक लड़खड़ा कर गिर गए। सांगा अपने दिल पर हाथ रखकर नीचे गिर गए। टीम के सदस्यों ने उसे संभाला तथा कार में बैठाकर अपने कार्यालय ले गए।
नहीं बनता कोई टैक्स, सिर्फ किया जा रहा प्रताड़ित : राजेंद्र
टीम की ओर से गिरफ्तार किए गए राजेंद्र सांगा का कहना है कि उसकी कंपनी की ओर से कोई सर्विस टैक्स नहीं बनता है। सिर्फ उसे प्रताड़ित करने के लिए उसे गिरफ्तार किया गया है। यह सरासर अन्याय है।
फर्जी कागज लगाकर सर्विस टैक्स चोरी दिखाई : मंजू
राजेंद्र सांगा की पत्नी मंजू ने बताया कि फर्जी कागज बनाकर हमारी कंपनी पर सर्विस टैक्स की चोरी निकाली है। यह सिर्फ उन्हें प्रताड़ित करने के लिए यह सब कार्रवाई की गई है।
नहीं बनता कोई केस : पंवार
राजेंद्र के वकील अतर ¨सह पंवार का कहना है कि उत्पाद शुल्क टीम की ओर से जो-जो सर्विस टैक्स दिखाए गए हैं वो सब गलत हैं। टीम ने ऐसे टैक्स की रिकवरी भी दिखाई है जो कंपनी ने कभी लिया ही नहीं। कोई केस नहीं बनता है। जान-बूझकर मेरे क्लाइंट को फंसाया गया है।
स्रोत : दैनिक जागरण

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics