बदरीनाथ धाम में बर्फ साफ करना बना चुनौती

बदरीनाथ धाम में बर्फ साफ करना बना चुनौती

गोपेश्वर (चमोली)। बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने में दो सप्ताह ही शेष हैं और चुनौतियों का पहाड़ सामने खड़ा है। धाम के कपाट 26 अप्रैल को खोले जाने हैं। प्रशासन के लिए सबसे बड़ी मुश्किल बदरीनाथ में जमा बर्फ के ढेर साफ करना है। यहां चारों ओर बर्फ ही बर्फ नजर आ रही है।

रविवार को हालात का निरीक्षण करने पहुंची प्रशासन की टीम के हेलीकाप्टर को सेना के हेलीपैड पर उतरना पड़ा। चमोली के जिलाधिकारी अशोक कुमार और पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने बदरीनाथ पहुंचे तो वहां के हालात देख दंग रह गए। अधिकारियों को मंदिर तक पहुंचने के लिए चार किलोमीटर की दूरी पैदल ही नापनी पड़ी। डीएम ने बताया कि मुख्य मंदिर से लगे यात्री लाइन के शेड व दुकानों और घरों को बर्फ से क्षति पहुंची है। बिजली और पानी की लाइनें को भी नुकसान पहुंचा है। जिलाधिकारी ने भी माना कि समय कम है और काम ज्यादा। उन्होंने बताया कि प्रशासन ने बिजली, पानी, पैदल मार्ग सहित अन्य सुविधाएं दुरुस्त करने में जुट गया है। दूसरी ओर मंदिर समिति के कर्मचारी व कार्यकर्ता मंदिर के परिक्रमा स्थल से बर्फ हटाने के काम में जुटे हैं।

चारधाम में बर्फबारी, अल्मोड़ा में दरका पहाड़-

मौसम की बदली करवट इन दिनों पर्वतीय जिलों में जिलों पर भारी पड़ रही है। रविवार को गढ़वाल मंडल में चारधाम केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री में बर्फबारी हुई, जबकि निचले इलाकों में कहीं बूंदाबांदी और कहीं हल्की फुहारें पड़ी। बारिश से रबी की फसल को क्षति पहुंची है। वहीं कुमाऊं मंडल में नैनीताल व अल्मोड़ा जनपदों में कुछ स्थानों पर बारिश हुई। बारिश के चलते हुए भूस्खलन से अल्मोड़ा-हल्द्वानी हाइवे बाधित हो गया है। उधर, मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि सोमवार को भी उत्तरकाशी, चमोली व पिथौरागढ़ जनपदों में बहुत हल्की बारिश- बर्फबारी की संभावना है।

उत्तराखंड में मौसम का मिजाज इन दिनों चौंका रहा है। मार्च में अच्छी-खासी वर्षा और बर्फबारी के बाद अब अप्रैल में भी शुरुआत से बदरा बरस रहे हैं। पिछले दो दिनों से पर्वतीय जिलों में मौसम के इस रंग ने नींद उड़ाई हुई है। इस बीच रविवार को भी बादलों ने गढ़वाल मंडल में चमोली, रुद्रप्रयाग व उत्तरकाशी जनपदों को भिगोया। इन जनपदों में चारधाम के साथ ही हेमकुंड साहिब के अलावा अन्य चोटियों पर भी बर्फबारी हुई। जबकि, निचले इलाकों में बारिश। इस सबके चलते इन पर्वतीय इलाकों में ठंडक में इजाफा हो गया है। कुमाऊं मंडल की बात करें तो नैनीताल, अल्मोड़ा में विभिन्न स्थानों पर बारिश पड़ी। अल्मोड़ा में बारिश कुछ ज्यादा रही। उधर, मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि सोमवार को भी मौसम का यही रंग बरकरार रहेगा। उत्तरकाशी, चमोली के साथ ही पिथौरागढ़ जिले में भी बहुत हल्की वर्षा-बर्फबारी संभव है। देहरादून समेत अन्य स्थानों पर आंशिक रूप से बादलों की मौजूदगी बनी रहेगी। कुछ क्षेत्रों में गर्जन वाले बादल विकसित हो सकते हैं।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics