फर्जी E-WayBill के आधार पर 200 करोड़ के जीएसटी की चपत, मध्य प्रदेश में छापेमारी जारी

Image result for e way bill gst

New Delhi : मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में खासकर धातुओं के कबाड़ के कारोबार के नाम पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) का बेजा लाभ उठाने से जुड़े फर्जीवाड़े का आंकड़ा करीब 200 करोड़ रुपये तक पहुंच सकता है. इससे पहले मुंबई में भी 333 करोड़ के जीएसटी फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ था, जिसमें 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

मध्य प्रदेश के राज्य वस्तु एवं सेवा कर विभाग (एसजीएसटी) के सूत्रों ने बताया कि महकमे की डेटा अनैलिसिस इकाई को आंकड़ों की छान-बीन के दौरान पता चला कि धातु स्क्रैप के कारोबार से जुड़ी कई फर्मों ने माल की खरीदी-बिक्री दिखाते हुए जीएसटी का इनपुट टैक्स क्रेडिट हासिल करने के लिये अपना दावा पेश किया. लेकिन इन फर्मों ने संबंधित अवधि का जीएसटी रिटर्न दाखिल नहीं किया. इस सुराग के बाद फर्जीवाड़े की सीजीएसटी की मदद से छानबीन शुरू की गयी.

अधिकारियों के मुताबिक जीएसटी प्रणाली लागू होने के करीब डेढ़ साल बाद सामने आयी इस अंतरप्रांतीय धांधली को बोगस कारोबार, फर्जी इनवॉयस और जाली ई-वे बिलों के बूते अंजाम दिया गया.

Zee busness

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics