फर्जी बिलों द्वारा आईजीएसटी की रिफंड वसूली में लगे अफसर सांप निकल जाने के बाद लकीर को पीट रहे है

Image result for gst refundक्योंकि भारत में कुछ भी संभव है

नई दिल्ली : वाह री भारत सरकार और भारत सरकार के अफसर सारे देश के लोग अच्छी तरह जानते है कि यहां की पुलिस हो या फायर ब्रिगेड या अन्य सरकारी विभाग हादसा होने के बाद ही पंहुचते है। लोगो को पहले से पता हाता है कि हादसा होगा मगर सरकारी आदमी आंखे बंद करके देखते रहते है की कब हादसा हो खबर छप्पे दो चार सस्पेंड हो मीडिया में खबर जाए कई लोगों के फोटो आए यही है हमारे देश के लोगों का मनोरंजन। अब लिखने लगा तो कितने पेज भर सकते है। सरकार की सैकड़ो लापरवाहियां की मगर आज हम बात करेंगे फर्जी आईजीएसटी रिफंड खाने की जो अफसरी सूत्र बता रहे है।
दिल्ली में सिर्फ 1000 करोड़ रिफंड फर्जी बिलिंग तथा फर्जी एक्सपोर्ट द्वारा लूट लिया गया। हमने सरकार को पहले ही चेताया की यह काम धडल्ले से हो रहा है मगर सरकार सोई रही क्योंकि ऊपर से पकड़ने के आॅर्डर नहीं थे और सभी अफसर वहीं सोच रहे थे की चोरी होने के बाद पकड़ने का काम करेंगे। ताकि काम में सभी को बरकत मिलेगी। वों-वों आईटमें एक्सपोर्ट हुई जो सालों से इंपोर्ट हो रही थी। मोदी सरकार धारा 56 के तहत भ्रष्ट अफसरों को जबरन रिटार्यड कर रही है। मैं यह कहता हूं की जिन पोर्ट पर फर्जी बिलिंग फर्जी एक्सपोर्ट हुआ है।
उन अफसरों को तत्काल सस्पेंड करके उन पर कार्रवाई की जाए जैसे की आईसीडी तुगलकाबाद तथा दिल्ली एयर कार्गो एक्सपोर्ट में भारी फर्जी आईजीएसटी का काम हैं दो तीन लोगों को अरेस्ट भी किया गया है।
अगर यह स्मगलर अरेस्ट हो सकते है तो जिन्होने माल को बिना जांच या जांच के बाद गलत माल उड़ाया या फर्जी बिलिंग का खेल होने के बाद माल जाने दिया उनकी भी जांच होनी चाहिए।
क्या यह अफसर सैलरी और साथ में भारी रिश्वत खाने के लिए बैठाए गए है? आईसीडी तुगलकाबाद में 1 साल के एक्सपोर्ट का रिकॉर्ड निकाल कर जांच की जाये और अब सजा अफसरों को दी जाये जिन्होने फर्जी बिलिंग कर करोड़ों रुपए का सरकारी पैसा स्मगलरों में बंटने दिया। सारे देश को मालूम था की फर्जी रिफंड लिया जा रहा है। अब जीएसटी वाले अफसर जब जांच कर रहे है वहां पते ही फर्जी पाए जा रहे है।
अफसर जब 1-2 करोड़ सरकारी खजाने में जमा करवाता है तो उसको राष्ट्रपति अवॉर्ड दिया जाता है। और जो अफसर जिनको यह पता होने के बाद भी कि यह सब फर्जी काम है इससे सरकारी खजाने को चपत लगेगी फिर भी गलत काम होने देते है ऐसे अफसरों को नौकरी से तत्काल क्यों नहीं निकाला जाता। आज देश की अर्थव्यवस्था कितनी खराब है काम धंधे सब चौपट हो रहे है। ऐसे में यह भ्रष्ट अफसर देश के खजाने में जाने वाले टैक्स को खुद खा रहे है।
यह पब्लिक के पैसे को चंद भ्रष्ट लोगों को बांट रहे है। पहले तो इन पर कार्रवाई की जाये सीबीआई हवा में सरकारी विभागों पर डर का माहौल बनाने की बजाये पक्की सूचना पर जाये। और इन भ्रष्ट लोगों पर कार्रवाई करे जो सरकारी पैसे और पब्लिक के पैसों को अपने बाप का माल समझती है।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics