पेट्रोल और डीजल की एक्साइज डूटी से सरकार का बढ़ा राजस्व

नई दिल्ली : पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज डूटी से सरकार को खासा राजस्व मिल रहा है। इस वजह से अप्रैल में इनडायरेक्ट टैक्स के कलेक्शन में 42 फीसदी की बढ़ोतरी हुई और यह 64 हजार करोड़ रुपए के पार चला गया है। अप्रैल, 2015 में सरकार को इनडायरेक्ट टैक्स से 45,417 करोड़ रुपए का कलेक्शन हुआ था। इसी तरह एक्साइज डूटी में इस साल 28,252 करोड़ रुपए का कलेक्शन हुआ था जो पिछले साल 16,546 करोड़ रुपए था। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर नवंबर 2015 से जनवरी 2016 के बीच पांच बार एक्साइज डूटी में बढ़ोत्तरी की थी, जिससे पिछले वित्त वर्ष में 17 हजार करोड़ रुपए की अतिरिक्त इनकम हुई थी। अभी पेट्रोल पर 4.02 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर 6.87 रुपए प्रति लीटर एक्साइज डूटी लगती है। इसके अलावा सर्विस टैक्स और कस्टम डूटी कलेक्शन में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिली। एक साल पहले सरकार को अप्रैल में सर्विस टैक्स से 14,585 करोड़ रुपए मिले थे, वहीं इस साल इसमें 28 फीसदी की बढ़ोत्तरी देखने को मिली और यह 18,647 करोड़ रुपए था। कस्टम डूटी कलेक्शन में 22.5 फीसदी की बढ़ोत्तरी देखने को मिली। इसका कलेक्शन 14,286 करोड़ रुपए से बढ़कर 17,495 करोड़ रुपए हो गया है

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics