पटना : जीएसटी में रजिस्टर्ड 1.12 करोड़ व्यापारियों में 7% ही देते हैं सही से टैक्स

पटना : जीएसटी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) लागू होने के बाद इसे व्यावहारिक बनाने के लिए इसमें कई संशोधन हो चुके हैं. फिर भी इसमें निबंधित व्यापारियों की तुलना में टैक्स का संग्रह नहीं हो पा रहा है. अब तक लगभग एक करोड़ 12 लाख छोटे से लेकर बड़े व्यापारी निबंधित हो चुके हैं, लेकिन महज सात फीसदी व्यापारी ही सही से टैक्स देते हैं.
इस स्थिति को बदलने के लिए व्यापक स्तर पर प्रयास करने की जरूरत है. ये बातें डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कोलकाता के सीआर एवेन्यू स्थित महाजाति सदन में आयोजित पूर्वी भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहीं.  वे जीएसटी मंत्री समूह के संयोजक भी हैं.
 
बिजनेस इंटेलिजेंस से नहीं बच पायेंगे टैक्स चोरी करनेवाले
कोलकाता : सुशील मोदी ने कहा कि टैक्स चोरी करनेवाले यह समझते हैं कि वे बच निकलेंगे, तो ऐसा नहीं है. केंद्र सरकार ने बिजनेस इंटेलिजेंस सिस्टम तैयार की है, जो डाटा एनालिसिस करेगी और उसके जरिये आसानी से पता चल जायेगा कि कौन टैक्स चोरी कर रहा है.
इसलिए लोग रिटर्न फाइल करें. उन्होंने कहा कि एक राज्य से दूसरे में वाहन से माल ले जाते समय इवेबिल भरना पड़ता है, लेकिन कई जगहों पर चोरी छिपे नहीं करते हैं. अब इवेबिल की जांच के लिए रेडिया फ्रिक्वेंसी आईडेंटीफिकेशन (आरएफआइडी) टैग और जीपीएस लगाया जायेगा, जो वाहनों पर लगे रहेंगे. यह लगाना अनिवार्य होगा और वे जैसे ही एक से दूसरे राज्यों के प्रवेश और निकास द्वार पर पहुंचेंगे, तो वहां लगे सेंसर से वाहन के नंबर को कैच करके पता लग जायेगा कि इसका इवेबिल कराया गया है या नहीं.
पटना : जीएसटी में रजिस्टर्ड 1.12 करोड़ व्यापारियों में 7% ही देते हैं सही से टैक्स
वहीं, मोदी ने कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड मामले की सीबीआई जांच कर रही है. इस मामले में किसी को बख्शा नहीं जायेगा. किसी तरह का पक्षपात नहीं होगा. अब तक 10 आरोपियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है. अगली तारीख में पटना हाईकोर्ट में एक आवेदन कर अदालत की निगरानी में सीबीआई जांच की याचिका दाखिल की जायेगी.
 
चार को होगी बैठक
मोदी ने कहा कि 4 अगस्त को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमियों तथा छोटे व्यापारियों को आ रही समस्याओं पर विचार-विमर्श के लिए जीएसटी काउंसिल की विशेष बैठक होगी. जुलाई में 96 हजार 483 करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ है. जीएसटी के अंतर्गत छोटे व्यापारियों की परेशानी का बड़ा कारण यह है कि अभी सारी चीजें ऑनलाइन हो गयी हैं, जिसका अभ्यास उन्हें पहले से नहीं है. आने वाले दिनों में काउंसिल में कई स्तर पर कई निर्णय लिये जा सकते हैं. इस कार्यक्रम में 1200 से ज्यादा चार्टर्ड एकाउंटेंट मौजूद थे.
–  राजद पर साधा निशाना  उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर राजद पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि एनडीए सरकार और मुख्यमंत्री हर गंभीर मुद्दे पर अपनी राय रखते हुए समुचित फैसले लेते रहे हैं.
वहीं जिनकी पार्टी के शासन में चारा घोटाला, अलकतरा घोटाला, हजारों महिलाओं का उत्पीड़न और दलितों के नरसंहार हुए, वे इन मुद्दों पर मुंह क्यों नहीं खोलते? 26 साल में 26 बेनामी संपत्ति बनाने पर जवाब देने के लिए मुंह क्यों नहीं खुला? राघोपुर में दलितों के घर जलाये जाने की ताजा घटना पर भी उनका मुंह नहीं खुला. वे तो प्रधानमंत्री की खाल उधेड़ने जैसे बयान देने के लिए मुंह खोलते हैं.
सौजन्य से: प्रभात खबर

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics