नकली नोटों की आपूर्ति करने वाला कुख्यात तस्कर गिरफ्तार

नई दिल्ली : भारत समेत पड़ोसी मुल्कों नेपाल व बाग्लादेश में वर्षो से नकली नोटों की आपूर्ति कर रहे कुख्यात तस्कर शाहजहां शेख उर्फ टिन्नू को स्पेशल सेल ने पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया है। वह गिरोह का सरगना है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के इशारे पर वह भारत की अर्थ व्यवस्था को तबाह करने में जुटा था। सेल की टीम कई सालों से उसके पीछे लगी थी। टीम ने सर्विलांस सिस्टम के जरिए उसे दबोच कर बड़ी सफलता हासिल की है।
विशेष आयुक्त स्पेशल सेल एसएन श्रीवास्तव के मुताबिक, इंस्पेक्टर संजय दत्त, राहुल कुमार सिंह व धर्मेद्र कुमार की टीम ने 35 वर्षीय शाहजहां शेख को बांग्लादेश से सटे पश्चिम बंगाल के कलिया चक से गिरफ्तार किया है। वह मूलरूप से गांव छोटा मोहादीपुर, जिला मालदह, पश्चिम बंगाल का रहने वाला है। वह आइएसआइ के माध्यम से पाकिस्तान में छपे नकली नोट खरीदता था। वह आइएसआइ से 100 रुपये का नोट 25 रुपये में खरीदता था और उसे अपने एजेंटों को 45 रुपये में बेच देता था। एजेंट उन नोटों को नेपाल व बांग्लादेश व भारत के विभिन्न राज्यों में छोटे तस्करों को 65 रुपये में बेच देते थे। दिल्ली-एनसीआर के अलावा हरियाणा, राजस्थान, महाराष्ट्र व गुजरात में उसका मजबूत नेटवर्क था। सेल ने 2012 में पहली बार शाहजहां शेख गिरोह के कैरियर को गिरफ्तार किया था। तीन साल के दौरान सेल उसके 51 एजेंटों को गिरफ्तार कर 11 केस दर्ज कर चुकी है। सेल ने इनके पास से करीब एक करोड़ रुपये नकली नोट जब्त किए हैं।
डीसीपी संजीव यादव के मुताबिक कई बार शाहजहां के गुर्गे दिल्ली आकर तस्करों को नकली नोटों की खेप पहुंचा जाते थे। सेल के मुताबिक पाकिस्तान में छपे नकली नोट उच्च गुणवत्ता के हैं। आम आदमी नकली व असली की पहचान नहीं कर सकता। सेल ने इसे भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी। लेकिन इससे पहले ही वह हत्थे चढ़ गया। गुजरात व महाराष्ट्र में भी शाहजहां के खिलाफ नकली नोटों की आपूर्ति किए जाने के कई केस दर्ज हैं। उसके गांव का रहने वाला दोस्त मेहदुर शेख उसे इस धंधे में लाया। इसके बाद जल्द ही वह गिरोह का सरगना बन गया।
स्रोत : दैनिक जागरण 

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics