दिल्ली एयर कार्गो इम्पोर्ट में 12 करोड़ के साइकोट्रोपिक पदार्थ जब्त किया गया

Image may contain: foodNo photo description available.No photo description available.नई दिल्ली : आज से बहुत पहले हम लिख चुके है की दिल्ली एयर कार्गो में खुला खेल होता है। स्मगलिंग का धंधा जोरो पर होता है। स्मगलरों का एक छत्र राज रहता है सोना निकाल कर ले जाना वहां से आम बात है। सूत्रों के हवाले से हमे पता चला है कि यह स्मगलर कम सीएचए जो मर्जी नाक के नीचे से कुछ भी निकाल सकते है वह भी बिना ड्यूटी के कंसाईमेंट आने के तीन मिनट के अन्दर सब कुछ हो कर माल टैम्पू में लोड हो जाता है जांच ऐजेंसिया क्या जांच करेंगी बेचारे अफसरों की दिहाडी भी खा जाते है इतने बड़े 420 लोग काम करते है यहां एक छत्र राज है यहां स्मगलरों का अब ड्रग भी आ गई है अब नया मामला आया है यह दिल्ली एयर कार्गो इम्पोर्ट में 12 करोड़ के साइकोट्रोपिक पदार्थ जब्त किया गया जब्त ड्रग्स की बाजार में लगभग 12 करोड़ रुपये कीमत है। कस्टम के अनुसार यह दिल्ली हवाई अड्डे के एयर कार्गो टर्मिनल पर ड्रग्स का सबसे बड़ा बरामदगी है। इस मामले में दो सोमाली शरणार्थियों सहित तीन लोगों को कस्टम द्वारा गिरफ्तार किया गया।
खुफिया जानकारी के आधार पर दिल्ली सीमा शुल्क एयर कार्गो आयात ने इथियोपिया से आयात किए गए 600 किलोग्राम साइकोट्रॉपिक पदार्थ को जब्त कर लिया। जिसकी कीमत 12 करोड़ रुपये है जिसे ग्रीन टी की आड़ में आयात किया जा रहा था।
एयर कार्गो आयुक्तालय (एसीसी) की टीम के अनुसार आरोपी ने ड्रग्स की तीन खेप को ग्रीन टी के रूप में पेश किया था। जिसे एसीसी ने जांच के लिए साइकोट्रॉपिक पदार्थ के सैम्पल केंद्रीय राजस्व नियंत्रण प्रयोगशाला को भेजे और बाद में सैम्पल ठीक पाए गए। इसके साथ ही तस्करी के रैकेट में शामिल व्यक्तियों को पकड़ने की कोशिश की गई।
नतीजतन एक एफ कार्ड धारक और उसके सहयोगी को पूछताछ के लिए लाया गया। उनकी पूछताछ में इथियोपिया माल के आयात में शामिल दो विदेशी नागरिकों का खुलासा किया। इसके बाद उनमें से एक को पकड़ने के लिए कस्टम ने जाल बिछाया तथा उसे दक्षिण दिल्ली से पकड़ा गया।
लगातार पूछताछ के बाद उसने अपने साथी के छुपने के जगह के बारे में जानकारी दी। फिर कस्टम ने दूसरे आरोपी को हौज रानी एरिया के एक होटल से पकड़ा। दोनों आरोपियों ने स्वीकार किया कि वे ड्रग तस्करी में अरोपी है पुछताछ के बादे मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के सामने दोनों विदेशी नागरिकों और एक सीएचए को गिरफ्तार किया गया और उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics