तस्करी मामले में फरार प्रशांत को डीआरआइ ने गिरफ्तार किया

Image result for फरार प्रशांत को डीआरआइमेरठ। विदेशी हथियारों की तस्करी और बड़े पैमाने पर वन्य जीवों के अवशेष बरामदगी के मामले में फरार चल रहा रिटायर्ड कर्नल का शिकारी बेटा प्रशांत बिश्नोई एक महीने बाद गिरफ्तार हो गया। डीआरआइ आॅफिस में नोटिस का जवाब देने पहुंचा था, जहां उसे डीआरआइ की टीम ने गिरफ्तार कर लिया। वन विभाग के अफसरों की टीम भी प्रशांत से पूछताछ के लिए दिल्ली रवाना हो गई है। उसे दिल्ली की कोर्ट में पेश किया जाएगा। दिल्ली की डीआरआइ टीम ने 29 अप्रैल को सिविल लाइन क्षेत्र की कोठी नंबर 36/4 में सेना के रिटायर्ड कर्नल देवेंद्र कुमार बिश्नोई के यहां छापामारी की थी। टीम को कोठी से विदेशी कंपनियों के 40 ब्रांडेड हथियार, तेंदुए की खाल, सांभर और हिरण के सिर, सींग, वन्य जीवों के दांत, फ्रीजर में रखे गए 47 पैकेट में 117 किलो वन्य जीवों का मांस और एक करोड़ की नकदी बरामद हुई थी। इस सारे गोरखधंधे को कर्नल का शिकारी बेटा प्रशांत बिश्नोई अंजाम दे रहा था। मामले का पदार्फाश दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल हवाई अड्डे से विदेशी नागरिक बोरिश, प्रशांत के साथी नेशनल शूटर दिल्ली निवासी अमित गोयल और अनिल के 25 विदेशी असलहों के साथ पकड़े जाने पर हुआ था। ये तीनों हथियारों को लेकर टर्किश एयरलाइंस से लिजबुलजना, इस्तांबुल होते हुए स्लोवेनिया जा रहे थे। 30 अप्रैल को डीआरआइ के अधिकारियों ने प्रेस नोट जारी करके जानकारी दी थी कि प्रशांत के मेरठ स्थित घर और दिल्ली में उसके साथियों के पास से कुल मिलाकर 100 से ज्यादा विदेशी कंपनियों के ब्रांडेड हथियार और दो लाख कारतूस बरामद किए गए हैं। जांच में सामने आया कि नेशनल शूटर अमित गोयल और प्रशांत बिश्नोई विदेशी हथियार कंपनियों के एजेंटों के साथ मिलकर हथियारों की तस्करी में शामिल थे। दूसरे शूटरों के लाइसेंस पर विदेशों से हथियार आयात करके भारत में उन्हें 20 से 50 लाख रुपये में बेचा जा रहा था। डीआरआइ ने प्रशांत और उसके पिता को नोटिस जारी कर जवाब देने के लिए बुलाया था, लेकिन प्रशांत फरार हो गया था। वह सरेंडर करना चाहता था, लेकिन कोर्ट ने उसकी सरेंडर अर्जी को खारिज कर दिया था।
गंभीर धाराओं में बन सकता है चार्ज : डीआरआइ टीम ने प्रशांत से कई घंटे की सघन पूछताछ की है। प्रशांत पर आर्म्स एक्ट और हथियार तस्करी का चार्ज बन सकता है।
इसके अलावा उसके खिलाफ मेरठ में भी वाइल्ड लाइफ अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज है। वाइल्ड लाइफ की टीम प्रशांत को रिमांड पर लेकर मेरठ आएगी और वन्य जीव जंतुओं के अवशेषों के मामले में पूछताछ करेगी।

सौजन्य से : दैनिक भास्कर

You are Visitor Number:-