डीआरआई हेडक्वार्टर ने सुपारी सिगरेट तथा पटाखे इम्पोर्ट करने वालों पर छापेमारी की, करोड़ों रुपये जमा करवाये- 2 गिरफ्तार

नई दिल्ली : (मुझे और जीने की चाहत न होती, अगर तुम न होते) यह गाना डीआरआई पर फिट बैठता है। अगर आज डीआरआई डिपार्टमेंट न होता तो शायद स्मगलरों की संख्या इतनी होती कि सरकार से डयूटी चोरी रुकती ही नहीं। यह बात कस्टम डिपार्टमेंट की अन्य एजेंसियों के अफसर भी अपनी बातचीत में बताते है कि डीआरआई न होती तो क्या होता। अभी पिछले दिनों डीआरआई ने करोड़ों रुपये की डयूटी चोरी पकड़ कर दिखा दिया कि अगर स्मगलरों के इरादे बुलंद है तो डीआरआई भी कम नहीं है, ‘तू डाल-डाल, मैं पात-पात’। करोड़ों की सुपारी पोल्सी का मिस-यूस करके लाई गई थी। तीन करोड़ के लगभग डयूटी जमा हुई। आईसीडी तुगलकाबाद में मिस-डिक्लरेशन करके पटाखे लाये जा रहे थे। 8 कंटेनर पकड़े, दो गिरफ्तार किये गये और इम्पोटेंड सिगरेट पकड़ी यह केस अभी प्रिवेंटीव को दे दिया गया हैं आगे की जांच के लिए। इस तरह से डीआरआई हेडक्वाटर ने कम स्टाफ होते हुये भी अपनी डयूटी निभाई।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics