डीआरआई ने पकड़ी करोड़ों की सिगरेट

कांच की जगह 3 करोड़ की विदेशी सिगरेट जब्त
जोधपुर : डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस (डीआरआई) ने विदेशी सिगरेट की तस्करी का भंडाफोड़ कर 3 करोड़ रुपए का माल पकड़ा है। यह कंटेनर दुबई से आया था। कंटेनर में कांच आयात करना बताया गया था, लेकिन इसकी आड़ में सिगरेट की तस्करी हो रही थी। अहमदाबाद डीआरआई के इनपुट के बाद जयपुर-जोधपुर डीआरआई टीम ने कंटेनर चैक किया तो उसमें करीब 3 करोड़ रुपए की विदेशी सिगरेट मिली। डीआरआई ने केस दर्ज कर लिया है। अब कंटेनर मंगवाने वाले गुड़गांव के कारोबारी राजेश सैनी की तलाश में छापामारी की जा रही है। विदेश से आने वाले कंटेनर को चैक करने के अलग-अलग नोटिफिकेशन हैं। जब भी कोई नई कंपनी पहला कंटेनर मंगवाती है तो डीआरआई उसे पूरी तरह चैक करके ही क्लीयरेंस देती है। बाद में मंगाए जाने वाले कंटेनरों में रेंडम चौकिंग सिस्टम शुरू हो जाता है। गुड़गांव की फर्म जनरल ट्रेडिंग कंपनी, जिसका मालिक राजेश सैनी है, ने पिछले माह कांच का कंटेनर मंगवा कर चैक कराया और दूसरे कंटेनर में ही विदेशी सिगरेट भरवाकर मंगवा ली। डीआरआई को संदेह है कि यह कारोबारी नई-नई फर्म बनाकर इसी तरह तस्करी करता रहा है। इस पूरे मामले के खुलासे से कई पुरानी डिलीवरियों पर भी डीआरआई के अफसरों को शक है। सूत्राों का कहना है कि टीम कारोबारी की तलाश कर रही है। डीआरआई की टीम ने पाल रोड स्थित थार ड्राईपोर्ट पर पहुंच कर जनरल ट्रेडिंग कंपनी के कंटेनर को खुलवाया तो उसमें 500 कार्टन थे, जिन पर कांच के फोटो थे। एक सौ कार्टन में तो कांच निकले, लेकिन बाकी सभी कार्टन में इंपोर्टेड सिगरेट व कुछ कार्टन में हेल्थ सप्लीमेंट प्रोटीन पाउडर भरा हुआ था। इन कार्टन में भरी सिगरेट की अनुमानित कीमत 3 करोड़ रुपए तक आंकी गई है। इस पर 114 प्रतिशत की डूटी लगती है। इस लिहाज से डीआरआई ने करीब 6 करोड़ रुपए का केस बनाया है

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics