डीआरआई ना होती तो क्या होता ?

Related imageडीआरआई ने प्रतिबंधित चीनी पटाखों से भरा एक कंटेनर जब्त किया
अहमदाबाद : डीआरआई ने 71.69 लाख रुपये मूल्य के चीनी पटाखों से भरा एक कंटेनर जब्त किया जिसे सूरत की एक कंपनी द्वारा अवैध रुप से आयात किया गया था।
निदेशालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में एक कंटेनर स्टेशन पर यह खेप रखी हुई थी।
सूरत की इस कंपनी के मालिक को पिछले डीआरआई ने गिरफ्तार किया था क्योंकि डीआरआई ने पिछली बार उसके द्वारा आयातित एक करोड़ रुपये का चीनी पटाखों की खेप जब्त की थी। अदालत से जमानत अर्जी नामंजूर होने के कारण कंपनी का मालिक सलाखों के पीछे ही है लेकिन इसी बीच डीआरआई सूरत को सूचना मिली कि कंपनी से चीनी पटाखों का एक अन्य कंटेनर मंगाया है।

 

ड्यूटी ड्रॉबैक मामले में कस्टम अधिकारी गिरफ्तार
मुंबई : डीआरआई ने कस्टम अधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह और उसके साथ स्वामी ढोबाले को 10 करोड़ रुपये की ड्यूटी ड्रॉबैक के धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार किया है। यह मामला 10 करोड़ रुपये का है जिसमें वास्तव में कोई निर्यात कारोबार ही नहीं हुआ था।
एक अन्य स्मगलिंग मामले में एसआईबी ब्रांच के एक अप्रैजर को पूछताछ के लिए कस्टम विभाग ने डिटेन किया है। इस पर कंटेनर क्लियर करने के लिए बार-बार रकम मांगने का आरोप है जो अनेक निर्यातक-आयातकों ने लगाया है।

 

7 करोड़ रुपए की विदेशी सिगरेट जब्त
मुंबई : एक बड़ी धरपकड़ में डीआरआई ने मुंबई और भिवंडी के एक गोदाम से 69.26 लाख स्टिक सिगरेट बरामद की हैं २जिनकी कीमत 6.92 करोड़ रुपये बताई गई है।डीआरआई के अनुसार ये सिगरेट इंडोनेशिया की बनी हुई हैं और भारत में स्मगलिंग करके लाई गई थीं। इन सिगरेट का नाम गुदांग गरम है। इन सिगरेट के पैकेट पर जो बातें लिखी हुई थी वे अंग्रेजी और अरबी भाषा में भी। इससे यह संकेत मिलता है कि इन सिगरेटों को भारत होते हुए खाड़ी देशों में भेजा जाना था। लेकिन डीआरआई इन सिगरेटों को यहां लाने वाले स्मगलरों को पकड़ने में अभी तक असफल रही है।

You are Visitor Number:-