डीआरआई द्वारा हवाला के पैसों के साथ पकड़ी गई एयर होस्टेस

Related imageनई दिल्ली। डीआरआई ने जेट एयरवेज की एक एयरहोस्टेस को हवाला के करीब चार लाख अस्सी हजार डॉलर यानि करीब तीन करोड़ बीस लाख रुपए के साथ हांगकांग जा रही फ्लाइट से गिरफ्तार किया है। डिपार्टमेंट आॅफ रेवन्यू इंटेलीजेंस ने इस फ्लाइट पर तब रेड मारी जब ये एयर होस्टेस हवाला के इस बड़ी खेप के साथ दिल्ली एयरपोर्ट से उड़ान भरने वाली थी। ये एयर होस्टेस हांगकांग जाने वाली फ्लाइट में ही क्रू मेम्बर थी। एयरहोस्टस के साथ दिल्ली के एक हवाला डीलर को भी गिरफ्तार किया गया है।
डीआरआई के एक बड़े अधिकारी ने बताया कि 7-8 जनवरी को दिल्ली एयरपोर्ट पर एक सटीक सूचना के आधार पर हांगकांग जाने वाली जेट एयरवेज की फ्लाइट में उड़ने से पहले ही रेड की गई। जिसमें एक एयर होस्टेस को पकड़ा गया। उसके बैग में से 4,80,200 डॉलर मिले। ये डॉलर बॉक्स के निचले हिस्से में एल्मुनियम फोइल में लिपटे हुए थे भारतीय करेंसी में इन डॉलर्स की कीमत करीब तीन करोड़ बीस लाख रुपए है। बाद में जेट एयरवेज की इस महिला क्रू से पूछताछ में एक स्पलायर को भी गिरफ्तार किया गया जो इस क्रू मेम्बर को हवाला का पैसा देता था। आरोपी महिला इस पैसे को विदेशों में पहुंचना का काम करती थी।
आरोपी हवाला स्पलायर की पहचान दिल्ली के झिलमिल इलाके के अमित मल्होत्रा के तौर पर हुई है। हालांकि वो एक ट्रैवल एजेंसी चलाता है जिसमें उसका असली काम हवाला का पैसा विदेशों तक पहुंचाने का था। देर रात तक डीआरआई उसके घर और दूसरे ठिकानों पर छापेमारी कर रही थी। सूत्रों के मुताबिक एयर होस्टेस मूल रूप से देहरादून की रहने वाली है और करीब छह साल से जेट एयरवेज में काम कर रही थी। एक साल पहले शादी होने के बाद वो अपने पति के साथ मयूर विहार फेज वन में रहती थी। उसका पति प्राईवेट कंपनियों के लिए नौकरी दिलाने वाली एक बड़ी कंपनी में काम करता है एयर होस्टस अगस्त 2017 से अमित मल्होत्रा के संपर्क में थी और उसके लिए लगातार विदेशों में हवाला का पैसा पहुंचाती थी। उसे एक डॉलर पर एक रुपए मिलता था। यानि अगर वो इस बार हांगकांग में हवाला के 4.80 लाख डॉलर पहुंचा देती तो उसे इस डील के पूरे चार लाख अस्सी हजार रुपए मिलते।
सूत्रों के मुताबिक आरोपी एयर होस्टेस एल्मुनियम फोइल पेपर में बांधकर डॉलर या फिर दूसरी विदेशी करैंसी रखती थी इसलिए वो एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ की एक्स-रे मशीन को भी धोखा देने में कामयाब हो जाती थी। वे आमतौर पर बैग में विदेशी करेंसी के ऊपर अपना मेकअप किट रख लेती थी। फोइल पेपर में लिपटा होने को कारण सुरक्षाकर्मियों को लगता था कि वो अपनी चॉकलेट या फिर खाने का कोई दूसरा सामान लो जा रही है। डीआरआई के सूत्रों के मुताबिक, एयर होस्टेस के पति को अपनी पत्नी के गैरकानूनी कामों की कोई जानकारी नहीं थी। जानकारी के मुताबिक, हवाला आॅपरेटर अमित को पकड़ने में एयर होस्टेस के पति और उसके मोबाइल फोन की अहम भूमिका रही।
एयर होस्टेस की गिरफ्तारी के बाद जब हवाला का पैसा हांगकांग नहीं पहुंचा तो अमित मल्होत्रा परेशान हो गया। डीआरआई ने आरोपी एयरहोस्टस का मोबाइल कब्जे में लेकर बंद कर दिया था। ऐसे में अमित ने जैसे तैसे उसके पति को फोन मिलाया। लेकिन तबतक पूछताछ के लिए एयरहोस्टेस का पति भी डीआरआई के मुख्यालय पहुंच गया था। जैसे ही अमित ने बताया कि उसने उसकी पत्नी को कुछ सामान दिया था हांगकांग भेजने के लिए जो नहीं पहुंचा है, पति ने तुरंत ये जानकारी डीआरआई के अधिकारियों को दे दी।
डीआरआई ने आरोपी एयर होस्टेस के जरिए अमित को मिलने बुलाया और उसे भी धर दबोचा। सूत्रों के मुताबिक, अमित पिछले करीब एक साल से हवाला ओपरेटर का धंधा कर रहा था। पूछताछ और छापेमारी में पता चला है कि वो करीब 14-15 व्यापारियों के संपर्क में था। इन व्यापारियों का पैसा ही वो हवाला नेटवर्क को जरिए विदेश भेजता था। डीआरआई को पूरा यकीन है कि पकड़ी गई एयर होस्टस से पहले भी वो किस किसी एयरलाइन स्टाफ के जरिए विदेशों में हवाला मनी भेजता था। उससे कड़ी पूछताछ जारी है।

You are Visitor Number:-