डीआरआई ने उदयपुर में 500 करोड़ की नशीली दवा और मादक पदार्थ के कारोबार का भंडाफोड़ किया

 

Image result for directorate of revenue intelligenceउदयपुर : शहर में दीपावली से एक दिन पहले केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड के अधीन कार्यरत राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) की टीम ने रीको कलड़वास क्षेत्र में संचालित फैक्ट्री-गोदाम पर छापा मारा। इस दौरान यहां भारी मात्रा में नशीली दवाओं व मादक पदार्थ के कारोबार का भंडाफोड़ हुआ। प्रारंभिक जांच में ही करीब 500 करोड़ की दवाइयां व मादक पदार्थ मिलने की जानकारी सामने आई है।

टीम ने पूछताछ के बाद फैक्ट्री के मालिक रवि दूधानी को हिरासत में ले लिया। डीआरआई टीम के साथ नारकोटिक्स विभाग और बीएसएफ के साथ स्थानीय पुलिस का भी सहयोग लिया गया।
500करोड़ के पार जा सकता है आंकड़ा
फैक्ट्री के गुड़ली व राजसमंद के धोइंदा में स्थित गोदामों की भी टीम ने जांच की। अधिकारियों ने कार्रवाई के 24 घंटे और जारी रहने की बात कही। प्रारंभिक खुलासे में आंकड़ा 700 करोड़ के पार जा सकता है। नशीली दवाइयों के कारोबार को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने से भी इनकार नहीं किया जा रहा।
तीन दिन पहले भी की कार्रवाई

डीआरआई की मुंबई व जयपुर की टीमों ने तीन दिन पहले भी गुड़ली व धोइंदा में कार्रवाई की थी। लेकिन वहां कुछ खास हाथ नहीं लगने पर उदयपुर की कलड़वास स्थित फैक्ट्री पर छापा मारा। फैक्ट्री में मिले माल को देखकर सब हैरान रह गए। कार्रवाई जारी है

सफेद पाउडर ने डाला चकमे में

फैक्ट्री से भारी मात्रा में नशीला सफे द पाउडर मिला है, उसके ब्राउन शुगर होने से भी इनकार नहीं किया जा सकता। मौके पर जिस तरह से 500 से 700 करोड़ के माल जब्त करने की कार्रवाई हो रही है उससे ब्राउन शुगर आशंका प्रबल हो गई है।

सौजन्य से : राजस्थान पत्रिका

Leave a Reply

You are Visitor Number:-