जीएसटी से अप्रत्यक्ष कर एक टैक्स में आए: जॉइंट कमिश्नर

जीएसटी के रिटर्न, रजिस्ट्रेशन आदि की जानकारी गांव, कस्बों, छोटे शहरों तक पहुंचाने के लिए और व्यापारियों को जागरूक करने के लिए वाणिज्यिक कर विभाग ने हर सर्कल में ट्रेनिंग कार्यक्रम शुरू कर दिया है।

पहली कार्यशाला सोमवार को देपालपुर में हुई। इसमें जानकारों ने व्यावहारिक जानकारी देते हुए बताया कि किस तरह से वह जीएसटी रिटर्न भर सकते हैं। इसमें वाणिज्यिक कर के अधिकारी के साथ ही मप्र टैक्स लॉ बार एसोसिएशन और कमर्शियल टैक्स प्रैक्टिशनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी और उनके द्वारा तय किए गए प्रशिक्षक प्रतीक जैन, जीडी सोनी, गौरव नीमा, जयंत अग्रवाल एवं आयुष कटारिया मौके पर थे। इस मौके पर जॉइंट कमिश्नर मनोज चौबे ने कहा कि जीएसटी से सभी अप्रत्यक्ष कर एक टैक्स में आ गए हैं। इससे हर टैक्स के लिए अलग-अलग रिटर्न भरने, हिसाब रखने की जरूरत खत्म हो गई है। सीटीपीए अध्यक्ष एके गौर ने कहा कि जीएसटी की जानकारी अभी निचले स्तर पर अधिक नहीं पहुंची है। एमपीटीएलबीए के अध्यक्ष अश्विन लखोटिया, सीटीपीए की ओर से यशवंत लोभाने, केदार हेड़ा, सुधीर मिश्रा एवं हेमंत जोशी और अमित दवे उपस्थित थे।

 

सौजन्य से: दैनिक भास्कर

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics