जीएसटी चोरी में महाराष्ट्र नंबर-1 गुजरात देशभर में दूसरे स्थान पर

 नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार ने जीएसटी टैक्स चोरी के मामलों की जांच की राज्यों की सूची जारी की है. वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार टैक्स चोरी के 303 मामलों के साथ गुजरात पूरे देश में दूसरे स्थान पर है. वहीं, रुपयों के मामले में महाराष्ट्र 3898.72 करोड़ के साथ पहले स्थान पर है. गुजरात 303 टैक्स चोरी के केस में से 232 मामलों में रिकवर कर चुका है. जबकि सर्वाधिक टैक्स चोरी के केस महाराष्ट्र में होते है और सर्वाधिक रकम भी महाराष्ट्र से ही सामने आई है. देश के तमाम राज्यों में टैक्स चोरी के कुल 3196 मामलों की तुलना में 12766.85 करोड़ रुपए होती है.

गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) देश में लागू ह होकर एक साल हुआ है. ऐसे में जीएसटी की टैक्स चोरी करने वाले मामलों की जानकारी वित्त मंत्रालय ने राज्य वाइज घोषित की है. जिसमें महाराष्ट्र राज्य 418 मामलों में 3898.72 करोड़ रुपए चोरी के साथ पहले स्थान पर है. जबकि टैक्स चोरी के मामलों में दूसरे स्थान पर गुजरात का नंबर आता है. गुजरात में कुल 303 मामलों में 548.16 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी गई है. जिसमें से जीएसटी विभाग ने 232 मामलो में 405.55 करोड़ रुपयों की रिकवरी की गई थी. मध्य प्रदेश 252 टैक्स चोरी के मामलों के साथ तीसरे स्थान पर रहा है. जबकि टैक्स चोरी की रकम में उत्तर प्रदेश 998.62 करोड़ के साथ दूसरे स्थान पर और 844.17 करोड़ रुपए के साथ कर्नाटक तीसरे स्थान पर है.

सरकार ने ई-वे बिल स्क्वायड, डेटा के सिस्टमेटिक एनालिसिस और डायरेक्टोरेट जनरल (एनालिटिक्स और रिस्क मैनेजमेंट) द्वारा टैक्स चोरी में कार्रवाई की है. महाराष्ट्र में सबसे अधिक टैक्स चोरी के मामलों में अभी भी राज्य सरकार 1423.45 करोड़ रुपए की रिकवरी नहीं कर सकी है. जबकि गुजरात राज्य में टैक्स चोरी की 30.95 करोड़ की चोरी की तुलना में विभाग सिर्फ 17.9 करोड़ रुपए रिकवर कर चुका है. जबकि अभी भी 13.05 करोड़ रुपए रिकवर होने बाकी है.

soure by : uday kiran

 

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics