जीएसटी काउंसिल की आज चल रही बैठक में आधा दर्जन चीजों पर टैक्स घटाने का फैसला लिया जा सकता है

GST काउंसिल की अहम बैठक जारी, TV-फ्रिज सहित ये चीजें हो सकती हैं सस्तीnew delhi : जीएसटी काउंसिल की आज चल रही बैठक में आधा दर्जन चीजों पर टैक्स घटाने का फैसला लिया जा सकता है गाड़ियों के टायर, सीमेंट जैसी चीजों पर दरें 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी तक आ सकती है. आपको बता दें कि इस हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जल्द ही 99% सामान को जीएसटी के 18 फीसदी वाले दायरे में लाने की योजना है. उन्होंने कहा कि कुछ चीजें ही 28% GST दायरे में रहेंगी, बाकी चीजें 18% या उससे कम GST दायरे में रहेंगी.

फूड प्रोसेसिंग मंत्रालय ने अचार, टमाटर प्यूरी जैसी चीजों पर जीएसटी हटाने का प्रस्ताव रखा है. मंत्रालय का कहना है कि उन चीजों पर जीएसटी नहीं लगाया जाएगा जो खाने के सीधे इस्तेमाल में नहीं आती हैं. प्राइमरी प्रोसेस्ड फूड को फार्म प्रोडक्ट माना जाएगा. अब कटे आम, टमाटर पल्प, आइस्ड फिश, डीहाइड्रेटेड प्याज, लहसुन पर जीएसटी हट सकता है. अभी इन प्रोडेक्ट पर 12-18 फीसदी टैक्स लगता है.

क्या होगा सस्ता-

> गाड़ियों के टायर समेत करीब आधा दर्जन सामानों पर जीएसटी की दरें घट सकती हैं.
>> अभी साइकिल छोड़ सभी टायर पर 28 फीसदी लागू है.
>> सूत्रों के मुताबिक टायर पर जीएसटी 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी किया जा सकता है.

> ई-रिक्शा के टायर पर जीएसटी 5 फीसदी हो सकता है.
>> एसी और सीमेंट पर भी जीएसटी की दर घट सकती है.
>> सीमेंट पर जीएसटी दरें 28 फीसदी से घटकर 18 फीसदी पर आ सकती है.
>> इस बैठक में घरों पर भी जीएसटी घटाने पर चर्चा हो सकती है.
>> इसके अलावा टीवी, कंप्यूटर पर भी जीएसटी घट सकता है
>> सूत्रों के मुताबिक जीएसटी की दरें घटाने वाले आइटम की लिस्ट को अंतिम रूप दिया जा रहा है.
पीएम मोदी ने कहा था, ‘शुरुआती दिनों में जीएसटी अलग-अलग राज्यों में मौजूद वैट या उत्पाद शुल्क के आधार पर तैयार किया गया था. हालांकि समय-समय पर बातचीत के बाद कर व्यवस्था में सुधार हो रहा है.’ प्रधानमंत्री ने मंगलवार को संकेत दिया था कि 1,200 से अधिक वस्तुओं और सेवाओं में से 99 प्रतिशत पर 18 प्रतिशत या उससे कम जीएसटी लगेगा.

फिलहाल 28 प्रतिशत के ऊंचे कर स्लैब में 34 वस्तुएं हैं. इनमें वाहन टायर, डिजिटल कैमरा, एयर कंडीशनर, डिश वॉशिंग मशीन, सेट टॉपबॉक्स, मॉनिटर और प्रोजेक्टर के अलावा कुछ निर्माण उत्पाद मसलन सीमेंट शामिल हैं. सीमेंट पर कर की दर को घटाकर 18 प्रतिशत करने से सरकार पर करीब 20,000 करोड़ रुपये का सालाना बोझ पड़ेगा, इसके बावजूद परिषद यह कदम उठा सकती है.

जो उत्पाद 28 प्रतिशत कर स्लैब में ही रहेंगे उनमें शीतल पेय, सिगरेट, बीड़ी, तंबाकू उत्पाद, पान मसाला, धूम्रपान पाइप, वाहन, विमान, याट, रिवाल्वर और पिस्तौल तथा गैंबलिंग लॉटरी शामिल हैं. जीएसटी के पांच कर स्लैब शून्य, 8, 12, 18 और 28 प्रतिशत हैं.

source by News 18 hindi

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics