जानिए लजिस्टिक्स कंपनियां कैसे करती काम

नई दिल्ली : क्या आपके मन में कभी यह सवाल आया है कि कूरियर कंपनियां कैसे रिकॉर्ड टाइम में पार्सल और डॉक्युमेंट्स डिलिवर करती हैं? या किस तरह से फार्म प्रॉडक्ट्स देश के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में बढ़िया कंडिशन में पहुंचते हैं? क्या आपने यह सोचा है कि किसी दूसरे शहर की ई-कॉमर्स कंपनी को आपने जिस फर्नीचर का ऑर्डर दिया था, वह कैसे एक दिन में आपके घर पहुंच जाता है? यह कमाल लॉजिस्टिक्स कंपनियां करती हैं। आज की तारीख में लॉजिस्टिक्स सेक्टर अट्रैक्टिव इन्वेस्टमेंट ऑपर्च्युनिटी है।logistic-companies-TTJuly11

कहां से आएगी ग्रोथ

आने वाले वक्त में लॉजिस्टिक्स कंपनियों की ग्रोथ तेज होने वाली है। इसकी कई वजहें हैं। पहली, देश की जीडीपी ग्रोथ बढ़ रही है। पहले देखा गया है कि लॉजिस्टिक्स सेक्टर की ग्रोथ जीडीपी ग्रोथ की 1.5 से 2 गुना होती है। इसका मतलब यह है कि अगर देश की इकॉनमी 8 से 9 पर्सेंट की रफ्तार से बढ़ती है तो लॉजिस्टिक्स सेक्टर की रफ्तार 16 से 18 पर्सेंट रहेगी। दूसरी, ई-कॉमर्स सेक्टर की ग्रोथ आने वाले कई सालों तक 25-30 पर्सेंट सीएजीआर रहने वाली है। फ्लिपकार्ट का दावा है कि 2020 तक भारतीय ई-कॉमर्स मार्केट 60 अरब डॉलर का हो जाएगा, जो अभी 13 अरब डॉलर का है। इससे लॉजिस्टिक्स सेक्टर में जबरदस्त तेजी आएगी। हालांकि, इंफ्रास्ट्रक्चर की खराब हालत के चलते लॉजिस्टिक्स सेक्टर की ग्रोथ प्रभावित हो रही है, लेकिन ध्यान रखें कि सरकार रोड और रेलवे नेटवर्क को बेहतर बनाने पर ध्यान दे रही है। लॉजिस्टिक्स सेक्टर को इससे काफी फायदा होगा। इंफ्रास्ट्रक्चर बेहतर होने से वह कम समय और लागत में डिलिवरी कर पाएगा। गुड्स ऐंंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) लागू होने से भी लॉजिस्टिक्स सेक्टर को काफी फायदा होगा। अभी कश्मीर से केरल जाने वाले ट्रक को कई चेकपॉइंट पर रुकना पड़ता है, इससे बेवजह की देरी होती है। यात्रा के दौरान ट्रकों को चुंगी जैसे टैक्स कई बार देने पड़ते हैं। इस बारे में जियोजीत बीएनपी पारिबा फाइनैंशल सर्विसेज के रिसर्च हेड इलेक्स मैथ्यूज ने बताया, ‘जीएसटी के लागू होने से पूरे देश में कॉमन टैक्स सिस्टम हो जाएगा, यह लॉजिस्टिक्स कंपनियों के लिए बहुत फायदेमंद होगा।’

किन बातों पर ध्यान दें
इन्वेस्टर्स को लॉजिस्टिक्स सेक्टर की कंपनियों की खूबियों को देखना चाहिए और उस हिसाब से उनमें पैसा लगाने का निर्णय लेना चाहिए। ऐसी एक खूबी स्ट्रैटिजिक लोकेशंस पर कंपनी की मौजूदगी हो सकती है, जहां क्लायंट कंपनियों को उसकी सर्विस की जरूरत हो। स्ट्रैटिजिक लोकेशंस पर मौजूदगी से कॉस्ट में भी कमी आती है। इंडस्ट्री को इन दिनों छोटे शहरों में भी अच्छी ग्रोथ मिल रही है। इसलिए लॉजिस्टिक्स कंपनियों को इन जगहों पर भी नेटवर्क बढ़ाना होगा। टेक्नॉलजी भी इस बिजनस में अहम रोल अदा करेगी। लॉजिस्टिक्स कंपनियां जो सामान ट्रांसपोर्ट कर रही हैं, उसकी रियल टाइम ट्रैकिंग उनके लिए बहुत जरूरी है। इसके साथ रेप्युटेशन और ब्रैंड नेम की भी काफी अहमियत होती है। एलआईसी नोमुरा म्यूचुअल फंड के फंड मैनेजर सचिन रेलेकर ने बताया, ‘जब ढोए जाने वाले सामान की कीमत बढ़ेगी, तब कस्टमर्स बड़ी और जानी-मानी कंपनियों की सर्विस लेना पसंद करेंगे।’ यहां हम लॉजिस्टिक्स सेक्टर की तीन कंपनियों के बारे में बता रहे हैं, जिन पर इन्वेस्टमेंट के लिए नजर डाली जा सकती है।

स्रोत : एनबीटी

Comments are closed.

You are Visitor Number:- web site traffic statistics