जगह-जगह कुंडली जमाये बैठे माफिया अफसरों की वजह से सरकार को अरबों के रेवेन्यू का नुकसान

Feb 2016 Monthly1 to 8 Page

प्रधानमंत्री ने सीबीईसी चेयरमैन नजीब शाह को कस्टम तथा सेंट्रल एक्साइज के निकम्मे तथा भ्रष्ट अफसरों पर नकेल कसने को कहा

धर्मवीर आनंद।
नई दिल्ली : अगर आज पूरे देश में कस्टम एण्ड सेंट्रल एक्साइज डिपार्टमेंट को खंगाला जाये तो सरकार हैरान रह जायेगी कि पूरे देश में माफिया अफसरों की वजह से अरबों रुपये के रेवेन्यू का नुकसान हो रहा है। कारण है सीबीईसी के बनाये हुये कानूनों का ढंग से पालन न करना। डिपार्टमेंट मलाईदार जगहों की पोस्टिंग कुछ चुने हुये अफसरों को ही लगाता है। यह अफसर हर मलाईदार पोस्टिंग के स्पैशलिस्ट बन जाते है। यह सरकार का खजाना भरने की बजाय अपना घर भरते है। थोड़े बहुत प्रोटोकोल के नाम पर ऊपर पहुंचा देते है। कोई एंटीविजन स्पेशललिस्ट है तो कोई एयरपोर्ट स्पेशललिस्ट, कोई रोहतक सम्भालकर बैठा है तो कोई सालों से सोनीपत। कोई कानून नहीं है इनकी ट्रांसफर पोस्टिंग का। 10-10 साल से एक ही जगह पर बैठे है और सभी जगह महीना बांध रखा है। हर जगह एंटीविजन है मगर कोई काम नहीं। जो महीना नहीं देता वहां छापेमारी की जाती है। सरकार सर्वे करवाये की यह निकम्मे तथा भ्रष्ट अफसर सालों से एक ही जगह पर क्यों बैठे रहते है। जब ट्रांसफर पोस्टिंग होती है लिस्ट में नाम होता है मगर रिलिव ही नहीं किया जाता। अगर इन अफसरों की लिस्ट बनाई जाये तो सरकार खुद हैरान हो जायेगी कि यही 10 प्रतिशत अफसर ही सब मलाईदार जगहों पर घूम-घूम कर अपना घर भर रहे है। सरकार ने जब भर्ती किया था तो बाकी 90 प्रतिशत अफसरों को नालायक समझ कर भर्ती किया था। यह भ्रष्ट अफसर हर जगह अपनी सीट पक्की कर लेते है। कुछ अफसर ऐसे भी है कई साल लगातार मलाईदार पोस्टिंग पर रह कर शर्म महसूस करने लगते है और कुछ समय के लिए दायें बायें पोस्टिंग करवा लेते है। कुछ समय बाद फिर मलाईदार पोस्टिंग पर आ जाते है। इन भ्रष्ट अफसरों की सहुलियत के नाम पर कानून बनाये जाते है। डिपार्टमेंट की भाषा में इन जगहों का नाम संस्टीव तथा नॉन संस्टीव दिया गया है। जब इसी तरह यह माफिया अफसर अरबों रुपये की वसुली कर हर महीने अपनी जेबों में भरते रहेंगे। तो सरकार का खजाना कहां से भरेगा। सरकार इन माफिया अफसरों की वजह से पंगू होकर रह गई है। यह 10 प्रतिशत माफिया अफसर ही पूरे डिपार्टमेंट को चला रहे है सिर्फ कस्टम एक्साइज में नहीं पूरे देश के डिपार्टमेंट का यही हाल है। अगर सरकार ने सख्ती नहीं की और देशहित के अनुसार ट्रांसफर पोस्टिंग के कानून नहीं बनाये तो ब्लैक मनी का बाजार कभी खत्म नहीं हो सकता यही रिश्वत का कमाया काला धन विदेशी बैंकों में सड़ता रहेगा और सरकार भ्रष्टाचार पर आंसू बहाती रहेगी। मोदी साहब चुन-चुन कर ईमानदार अफसरों की फौज हर डिपार्टमेंट में तैनात करो तभी देश का भला हो सकता है। वरना यह भ्रष्ट अफसर देश को बेच देंगे। इन भ्रष्ट अफसरों के सहारे मेक इन इंडिया कभी सफल नहीं हो सकता एक आईसीडी तुगलकाबाद में सरकारी रेवेन्यू से ज्यादा रिश्वत का बड़ा बाजार है। रोज की रिश्वत में करोड़ों रुपये इक्टठे होते है। क्या कारण है कि अफसर टाईम खत्म होने के बाद भी यहां लेट तक काम करते है। बाकी जगहों पर 5 बजते ही काम बंद कर दिया जाता है। आईसीडी तुगलकाबाद और एयर कार्गो में इन अफसरों को घर जाने की जल्दी क्यों नहीं?

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics