गोल्ड तस्करी में एयरपोर्ट कर्मचारी अरेस्ट

मुंबई : मुंबई एयरपोर्ट पर बीते एक सप्ताह से तस्करी के मामलों में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। अब एयरपोर्ट पर कार्यरत एक निजी एजेंसी के कर्मचारी को हिरासत में लिया गया। यह कर्मचारी इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर रंगे हाथों पकड़ा गया। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक यह कर्मचारी बैंकॉक से आए एक यात्री से गोल्ड लेकर उस गोल्ड को कस्टम विभाग की नजरों से बाहर लाकर एक अन्य शख्स को सौंपने की फिराक में था।
मामला मंगलवार रात डेढ़ बजे का है। एयरपोर्ट पर काम करने वाली और लोडर सप्लाई करने वाली निजी एजेंसी सेली बिनास के पैसेंजर सर्विस असिस्टेंट रोहन सुर्वे को कस्टम की एयर इंटेलिजेंस यूनिट (एआईयू) ने संदेह के आधार पर रोका। वह चुपचाप कस्टम काउंटर पार करने की कोशिश कर रहा था। तलाशी लेने पर उसके पास से बाइक की बैटरी के आकार का उपकरण बरामद हुआ। उपकरण की जांच करने पर उसके अंदर गोल्ड के 32 बिस्किट बरामद हुए। इन पर लगे मार्क से स्पष्ट हुआ कि ये बिस्किट विदेश में बने हुए थे। सभी बिस्किटों का कुल वजन 4876 ग्राम था और इनका बाजार भाव 1.25 करोड़ रुपये आंका गया।
कस्टम से बचाने के लिए बना बिचौलिया
पूछताछ के दौरान रोहन सुर्वे ने यह पैकेट किरण छोटूभाई चौधरी नाम के एक हवाई यात्री द्वारा उसे दिए जाने की बात कही। चौधरी बैंकॉक एयरवेज की फ्लाइट संख्या PG 733 द्वारा मंगलवार रात 12.30 बजे बैंकॉक से मुंबई इंटरनैशनल एयरपोर्ट आया था। उसके बाद चौधरी ने अपने पास मौजूद गोल्ड रोहन सुर्वे को सौंप दिया। सूत्रों के मुताबिक आरोपियों की योजना के अनुसार सुर्वे को एआईयू से बचकर यह गोल्ड लेकर बाहर आने का काम सौंपकर चौधरी खुद एयरपोर्ट टर्मिनल के बाहर गोल्ड लेने के लिए खड़ा था। सुर्वे की निशानदेही पर एआईयू ने टर्मिनल गेट से चौधरी को भी हिरासत में ले लिया। इन दोनों आरोपियों को बुधवार को सीएमएम अदालत में न्यायिक हिरासत के लिए पेश किया गया।
बिचौलिए के पास था और भी गोल्ड
सेली बिनास के इस कर्मचारी रोहन सुर्वे की व्यक्तिगत तलाशी लेने के बाद इसके पास से और भी गोल्ड बरामद हुआ। इसके कोट की जेब से गोल्ड के 8 बिस्किट बरामद हुए। इनका कुल वजन 152 ग्राम था। इस तरह इस पूरे मामले से गोल्ड के कुल 40 बिस्किट जब्त हुए। बरामद बिस्किटों का कुल वजन 6 किलोग्राम और 080 ग्राम था। कुल जब्त गोल्ड का बाजार भाव 1.52 करोड़ रुपये रहा।
स्रोत : नवभारत टाइम्स 12, फ़रवरी 2015

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics