गोल्ड की कीमतों में कटौती से बढ़ा आयात

नई दिल्ली : देश के सोने का आयात चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-मई की अवधि में 61 फीसदी बढ़कर 155 टन रहा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीमतों में गिरावट व रिजर्व बैंक द्वारा अंकुश में ढील से सोने का आयात बढ़ा है।

womern
इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में सोने का आयात 96 टन रहा था। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने के दाम बीते कई महीनों से कमजोर हैं। 30 जुलाई को न्यूयार्क बाजार में सोना 60,000 रुपये प्रति औंस पर बंद हुआ।
भारत सोने का सबसे बड़ा आयातक है, जो मुख्य रुप से आभूषण उद्योग की मांग को पूरा करता है। सोने का आयात बढ़ने से देश का चालू खाते का घाटा (कैड) प्रभावित होता है। वस्तुओं और सेवाओं के आयात का मूल्य निर्यात मूल्य से अधिक होना कैड कहलाता है। वित्त वर्ष 2014-15 में कैड घटकर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 1.3 फीसदी (करीब 1,500 अरब रुपये) पर आ गया। 2013-14 में यह जीडीपी का 1.7 फीसदी ( करीब 2000 अरब रुपये) था।

स्रोत : ईटी

Leave a Reply

You are Visitor Number:-