कैमरा कंपनियों को डीआरआई ने दिया 395 करोड़ की ड्यूटी चोरी का कारण बताओ नोटिस

नई दिल्ली : डायरेक्टरेट ऑफ़ रेवेन्यू इंटेलिजेंस  (डीआरआई)  ने कैमरा निर्माता कंपनियों कैनन, सोनी, और निकोन को अवैध रूप से 395 करोड़ रूपये की कस्टम ड्यूटी चोरी का टैक्स चोरी करने के आरोप में कारण बताओ नोटिस जारी किया है। टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार डीआरआई ने कहा है कि कंपनियों ने टैक्स चोरी से बचने के लिए हाई उच्च क्वालिटी के डिजिटल कैमरा की जगह पर लो क्वालिटी के कैमरा दिखाकर ड्यूटी चोरी का तरीका अपनाया।  डीआरआई के अनुसार – इन कैमरा कंपनियों का भारतीय कैमरा बाजार में 85 प्रतिशत का दबदबा है, इन कंपनियों को गलत तरीके से ड्यूटी चोरी की है।  डीआरआई के अनुसार कैनन – 161 करोड़, निकोन-105 करोड़, और सोनी पर129 करोड़ का ड्यूटी चोरी का आरोप है।
कस्टम के नियमों  के अनुसार – लो एंड कैमरा पर ड्यूटी में छूट दी जाती है लेकिन लेकिन उच्च एंड कैमरा पर 10 प्रतिशत की ड्यूटी लगती है। कस्टम विभाग के अनुसार निम्न क्वालिटी के कैमरा जिनकी रिकॉर्डिंग क्षमता 30 मिनट तक होती हैं और इन पर टैक्स में छूट दी जाती है।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics