कस्टम विभाग के आॅफिस में लगी आग से रिकॉर्ड तथा अन्य सामान नष्ट

Image result for कस्टम विभाग के आॅफिस में लगी आग से रिकॉर्ड तथा अन्य सामान नष्टअमृतसर। रीगो ब्रिज के नजदीक बने रेल कारगो परिसर में स्थित उप सहायक आयुक्त सीमा शुल्क कार्यालय में अचानक आग लगने से कार्यालय में रखा कीमती रिकॉर्ड, कंप्यूटर, एसी व अन्य फर्नीचर का सामान जल कर राख हो गया। रेलवे स्टेशन परिसर में सुरक्षा के लिए तैनात आरपीएफ के एएसआई मुकेश कुमार जब रेल कारगो वाली साइड में गश्त कर रहे थे तो उनको सीमा शुल्क कार्यालय में धुआं दिखाई दिया जिस पर तुरंत आरपीएफ के इंस्पेक्टर अरूण कुमार व अन्य रेलवे अधिकारियों को सूचित किया। इसके साथ ही 101 नंबर पर फायर ब्रिगेड विभाग में फोन कर सूचित किया। पर वहां से किसी ने फोन नहीं सुना। इस कारण तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम नंबर 100 पर घटना की जानकारी दी गई। इसके बाद फायर ब्रिगेड सिविल लाइन व बेरी गेट से दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंच गयी। चाहे आग अधिक नहीं फेली हुई थी पर पूरे दफतर में धुआं होने के कारण बुरा हाल था। दमकल गाड़ियों ने तुरंत आग पर काबू पा लिया। फायर अधिकारी शमान गिल व फायर मैन मुकेश लाल ने कहा कि यह आग एसी के कारण आगे व पीछे की साइड से पानी डाल कर आग पर काबू पाया गया। इस आग के कारण दस कंप्यूटर, एक एसी, फर्नीचर व अन्य महत्वपूर्ण रिकॉर्ड आग के कारण जल गया। सीमा सुरक्षा कार्यालय के बलदेव ंिसह ने कहा कि इस आग के कारण मेनुअल रिकॉर्ड पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। यह ऐसा रिकॉर्ड है जिसके कारण निर्यात आयात का काम प्रभावित होगा। बाद में नुकसान की पूरी समीक्षा होगी। रेलवे स्टेशन में तैनात इलेक्ट्रीकल विभाग के एसएससी अशोक कुमार व सहायक इलेक्ट्रीकल इंजीनियर संतोष कुमार ने कहा है कि आग एसी के रात को चले होने के कारण लगने की बात प्राथमिक जांच में सामने आई है। एसी में थरमोफोन होती है। जिससे धुआं अधिक पैदा हो जाता है। इस बारे में रेलवे विभाग पूरी जांच करेगा। मौके पर आरपीएफ के इंस्पेक्टर अरुण कुमार ने कहा है कि इस संबंध में रिपोर्ट दर्ज कर ली है। रेलवे विभाग की टीम आग के कारणों के बारे में रिपोर्ट बनाएगी।
रेलवे स्टेशन के कारगो में उप सहायक आयुक्त सीमा शुल्क का कार्यालय है। इस कार्यालय में उप सहायक आयुक्त के अलावा 25 कर्मचारियों का स्टाफ है। अधिकतर काम मेनुअल होता है। जिसकी फाइल इस कार्यालय में रखी गई थी। अब कुछ दिनों तक माल को लेने व देने में व्यापारियों को समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

Leave a Reply

You are Visitor Number:-