कस्टम में डेलीवेजर पकड़ते है अफसरों की रिश्वत, इम्पोर्टर-एक्सपोर्टर इससे भारी परेशान

नई दिल्ली : सालों से कस्टम में ड्राई पोटो तथा एयर कार्गो में अफसरों की रिश्वत का पैसा पकड़ने के लिए डेलीवेजर तैनात किये गये है।
यह डेलीवेजर को वेतन कौन देता है पता नहीं असल में इनका काम क्या है, पता नहीं? अफसर चाहे बदल जाये मगर डेलीवेजर वही के वही रहते है। कम्प्यूटर पर पेपर क्लीयर करने से लेकर पैसे पकड़ने का काम यह खूब निभाते है। सरकार को लिखते कई साल हो चूके है। मगर फैसला लेने वाले बहुत कमजोर है। इन लड़कों का इतना आतंक है कि अफसरों से क्लीरिंग एजेंट कम डरते है और इन लड़कों से ज्यादा। इसलिये कही यह अफसर का कान भर कर हमारा काम न रुकवा दे यह पर पेपर रिश्वत का पैसा यही तय करते है। क्वारी लगा कर कैसे पैसे लेने है यह काम यह बखूबी जानते है। पूरे देश में इनका एकछत्रा राज है। कई लड़के यहां गलत काम करवाने का ठेका भी लेते है।
सूत्रों की मानें तो अगर यह सब लड़के हटा दिये जाये तो 50 प्रतिशत भ्रष्टाचार कस्टम से अपने आप खत्म हो जायेगा। अफसर सीधा पैसे मांगने से डरेगा। सूत्रों के अनुसार हर डिप्टी कमिश्नर तथा सुप्रिडेंट ने अपने- अपने लड़के लगा रखे है पैसा इक्टठा करने में। जहां भी देखो यह लड़के लगातार अफसरों के कमरों के बाहर खड़े नजर आयेगे। इनकी ट्रांसफर पोस्टिंग नहीं होती 7 दिनों, 12 महीने लगातार बुखार में भी पहुंच जाते है, इतना लगाव है इनको अपने काम से। कोई कार्ड नहीं होता इनके पास।
अभी हाल ही में आईसीडी तुगलकाबाद में जो लाईसेंस घोटाला हुआ है इसमें भी डेलीवेजर का ही हाथ बताया जा रहा हे। अगर यह सब नहीं रुका तो सरकार को करोड़ों अरबों की चपत इसी तरह लगती रहेगी।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics