कस्टम अधिकारी से मिली थी ड्रग तस्कर बेबी

मुंबई :  मरीन ड्राइव के सिपाही धर्मा कालोखे के खिलाफ ट्रैप लगाने के लिए ड्रग माफिया बेबी पाटणकर इतनी बेचैन थी कि उसने फरवरी महीने में पहले इंस्पेक्टर गौतम गायकवाड के जरिए आजाद मैदान के ऐंटि नार्कोटिक्स सेल के चीफ सुहास गोखले से संपर्क किया। उसके बाद उसने डोंगरी के ‘मुन्ना खबरी’ के नाम से चर्चित खबरी की मार्च के प्रथम सप्ताह में फोन से मदद मांगी। गोखले को पिछले शनिवार को चार अन्य पुलिस कर्मियों के साथ गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार पुलिसकर्मियों में गायकवाड तो है ही , वह यशवंत पार्टे भी है, जिसकी ड्यूटी उन दिनों मुंबई एयरपोर्ट पर इमिग्रेशन डिपार्टमेंट में लगी हुई थी। इसकी जानकारी बेबी व मुन्ना दोनों को थी।

custom duty
गिरफ्तार किए गए पांच पुलिस कर्मियों की जांच टीम से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि बेबी ने जब मुन्ना को संपर्क किया, तो वह 3 मार्च को मुंबई एयरपोर्ट में एक कस्टम अधिकारी से मिला और उसे खंडाला में कालोखे के ठिकाने पर एमडी ड्रग होने की टिप दी। मुंबई के कस्टम अधिकारी ने मुन्ना की कहानी सुनने के बाद उससे कहा कि खंडाला मुंबई के कार्यक्षेत्र में नहीं, बल्कि पुणे के अंडर में आता है, इसलिए आप पुणे जाओ। मुंबई के एक कस्टम अधिकारी ने फिर पुणे के एक कस्टम अधिकारी को फोन किया और मुंबई के कुछ लोगों के उससे मिलने आने की जानकारी दी। मुन्ना फिर एयरपोर्ट में इमिग्रेशन में कार्यरत यशवंत पार्टे को लेकर अगले दिन पुणे के इस कस्टम अधिकारी से मिला। पार्टे के साथ एक महिला मुक्ता भी थी, जो उसकी दूसरी पत्नी बताई जाती है। इस मुक्ता के खिलाफ कुछ साल पहले डी एन नगर पुलिस में मामला दर्ज हुआ था। 4 मार्च को ये सभी लोग पुणे के इस कस्टम अधिकारी से मिले और फिर उसे लेकर कालोखे के खंडाला स्थित उस ठिकाने के बाहर तक गए, जहां एमडी ड्रग रखी हुई थी। यह ठिकाना सिर्फ गौतम गायकवाड ही जानता था, इसलिए गौतम को बेबी ने खासतौर पर वहां पहुंचने को कहा था। लेकिन पुणे के कस्टम अधिकारी को इस ठिकाने तक पहुंचने के बाद जब यह पता चला कि कालोखे पुलिस वाला है, तो वह यह कह कर पीछे हट गया कि हमें इस लफड़े में नहीं पड़ना है।
पुणे से सातारा
इसके बाद ये लोग सातारा की लोकल क्राइम ब्रांच अधिकारियों से मिले और फिर कालोखे के वहां पहुंचने के बाद बेबी की टिप पर कालोखे के इस ठिकाने पर रेड डाली गई। 8 मार्च की रेड के दौरान गायकवाड कालोखे के ठिकाने के बाहर था। खास बात यह है कि 2 मार्च से 8 मार्च तक बेबी कालोखे को लेकर महाराष्ट्र के अलग-अलग शहरों में हनी टूर पर घूम रही थी और उसी दौरान वह कालोखे के खिलाफ ट्रैप लगाने का भी काम करती रही। दोनों साथ-साथ ही अलग-अलग होटलों में एक ही कमरे में रहे, पर कालोखे को बेबी की उसके खिलाफ रची साजिश की भनक तक नहीं लगी। जब एनबीटी ने बुधवार को क्राइम ब्रांच के डीसीपी और मुंबई पुलिस के प्रवक्ता मोहन दहिकर से पूछा कि क्या मुंबई क्राइम ब्रांच की जांच टीम ने पुणे के इस कस्टम अधिकारी का स्टेटमेंट लिया है, तो दहिकर ने कहा कि इंक्वायरी अभी चालू है। इस इंक्वायरी में जिन- जिन के भी नाम आएंगे, हम उनका स्टेटमेंट लेंगे? मुंबई क्राइम ब्रांच चीफ अतुलचंद्र कुलकर्णी ने बताया कि शनिवार को गिरफ्तार सभी पुलिसकर्मियों के घर का सर्च किया गया है। कुलकर्णी के अनुसार, हमारी टीम कालोखे से भी पूछताछ के लिए कोल्हापुर जेल जाने वाली है।
स्रोत : एनबीटी

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics