करोड़ों के लाल चंदन की तस्करी पर डीआरआई टीम भगवानपुरा पहुंची, लोगों से पूछताछ की

भगवानपुरा | करेड़ा रोड स्थित पर काफी समय से बंद पत्थर कटिंग फैक्ट्री से चंदन की तस्करी का मामला सामने आया है। जयपुर के कनकपुरा डिपो में लाल चंदन के दो कंटेनर पकड़े जाने के बाद डीआरआई की टीम शुक्रवार देर रात भगवानपुरा में बंद पड़ी इस फैक्ट्री पर पहुंची। यह फैक्ट्री पहले भाजपा नेता एवं जिला प्रमुख के पास थी। अब एक प्रॉपर्टी डीलर के पास है।

सूत्रों के अनुसार जोगणिया एक्सपोर्ट से सैंड स्टोन बताकर दो कंटेनर एक्सपोर्ट के लिए रवाना किए थे। संदेह के आधार पर कनकपुरा कंटेनर डिपो में जांच की तो इनमें रखे बक्सों में लाल चंदन निकला। इनकी कीमत करोड़ों रुपए बताई गई है। प्रतिबंधित लाल चंदन की तस्करी का मामला पकड़े जाने पर डीआरआई की टीम शुक्रवार रात ही भगवानपुरा पहुंची। पता चला कि यह फैक्ट्री करीब ढाई साल से बंद है। जोगणिया स्टोन के नाम से यह फैक्ट्री पहले जिला प्रमुख शक्तिसिंह हाड़ा और सुंदरसिंह के नाम पर थी। इन्होंने बाबूलाल नंदावत से यह फैक्ट्री खरीदी थी। फैक्ट्री को करीब 2 साल पहले प्रतीक संचेती को बेच दिया था। यहां कुछ समय पहले तक लाल पत्थरों की कटिंग की मशीन लगी थी। जो अब नहीं है। फैक्ट्री के बाहर कुछ दुकानें बनी हुई हैं वे भी बंद हैं। डीआरआई की टीम ने कुछ लोगों से पूछताछ की थी।

 

सौजन्य से: दैनिक भास्कर

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics