ऑयल मिल में जीएसटी टीम ने की छापामारी, नौ घंटे जांच कर लौटी टीम

Image result for gstचरखी दादरी। शहर के कनीना रोड स्थित एक कॉटन एवं ऑयल मिल में जीएसटी टीम करीब नौ घंटे तक डेरा डाले रही। टीम में शामिल अधिकारी रिकॉर्ड और स्टॉफ की जांच कर वापिस लौट गए। हालांकि किन बिंदुओं पर जांच की गई और क्या खामियां सामने आई, इसकी कोई जानकारी टीम ने साझा नहीं की। इससे पहले जीएसटी टीम की रेड से अन्य मिल संचालकों में हड़कंप मच गया और आनन-फानन में कुछ स्टॉक और रिकॉर्ड को दुरुस्त करने में जुटे रहे। देर रात करीब आठ बजे टीम वहां से रवाना हो गई।
जानकारी के अनुसार कनीना रोड स्थित ओपी कॉटन एवं ऑयल मिल में स्टॉक और रिकॉर्ड की जांच करने सुबह साढ़े दस बजे जीएसटी टीम पहुंची। सूत्रों की मानें टीम भिवानी से आई थी। टीम में करीब 10 से 12 कर्मचारी शामिल थे। मिल में पहुंचते ही टीम सदस्य अपनी गाड़ियां बाहर खड़ी कर अंदर एंट्री मार गए। इससे यहां हड़कंप मच गया। सूत्रों का कहना है कि टीम सदस्यों ने मिल का निरीक्षण भी किया। इस दौरान यहां के स्टॉक रजिस्टर, एंट्री गेट रजिस्टर व मिल में मौजूदा स्टॉक की भी गहनता से जांच की गई। शाम करीब पौने छह बजे टीम में शामिल एक अधिकारी बाहर आया और मिल के मुख्य गेट पर लगे सीसीटीवी की फोटो सहित बाहर के दृश्य को अपने मोबाइल में कैद कर लिया। इस दौरान उक्त अधिकारी ने मीडिया के सवाल करने पर चुप्पी साधे रखी और फोटो खींचने के बाद वापिस लौट गया। टीम के अंदर जाने से लेकर बाहर निकलने तक मिल का छोटा और बड़ा गेट बंद रहा। करीब सवार सात बजे अधिकारियों की गाड़ी अंदर जाने पर ही एक बार मेन गेट खोला गया जिसे तुरंत बंद कर दिया गया। सूत्रों का कहना है कि स्टॉक और जीएसटी में गड़बड़ी की आशंका पर यह छापामारी हुईथी। जांच में क्या सामने आया इसकी पृष्टि टीम में शामिल अधिकारियों ने नहीं की। वहीं, मिल संचालक भी इस मामले पर चुप है।
व्यापारियों में फैली 24 गाड़ियां दादरी पहुंचने की अफवाह
ओपी कॉटल एवं ऑयल मिल के बाहर पहुंचे अनाज मंडी के एक आढ़ती ने बताया कि व्यापारियों को सूचना मिली है कि 24 गाड़ियों में सवार होकर कई टीमें दादरी प्रतिष्ठानों के रिकॉर्ड की जांच करने पहुंची हैं। हालांकि ओपी कॉटल मिल के अलावा अन्य किसी प्रतिष्ठान में छापामारी का कोई मामला सामने नहीं आया।
पहले भी कई मिलों में पकड़ी जा चुकी है गड़बड़ी
पिछले अगर तीन साल की बात करें तो मार्केटिंग बोर्ड टीम ने एक दर्जन मिलों में छापामारी की है। इस दौरान टीमों की जांच में स्टॉक की गड़बड़ी कर टैक्स चोरी करने के मामले भी सामने आए थे जिसके आधार पर मिल संचालकों पर भारी-भरकम जुर्माना भी लगाया गया था। पिछले दो सालों में सीएम फ्लाइंग भी मिलों में छापामारी कर चुकी है।

source by amar ujala

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics