एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान हैंडबैग से बाहर निकालने होंगे पर्स, मोबाइल और पेन

एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग के दौरान अब आपको वॉलिट्स, मोबाइल फोन, चार्जर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स को हैंडबैग से बाहर निकालना होगा। अब तक सिर्फ लैपटॉप्स और टैबलेट्स को ही अलग से ट्रे में स्क्रीनिंग के लिए रखना होता है। अब इन चीजों को भी ट्रे में जांच के लिए रखना होगा। यही नहीं अलग साइज के पेन की भी एयरपोर्ट पर कड़ी स्क्रीनिंग होगी। इसकी वजह यह है कि बीते कुछ दिनों में पेननुमा चाकू पाए जाने के मामले में सामने आए हैं। दिल्ली से बाहर की उड़ान लेने वाले यात्रियों को इंदिरा गांधी एयरपोर्टपर जल्दी ही इन सुरक्षा मानकों का पालन करने के लिए कहा जा सकता है। सीआईएसएफ के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि एयरपोर्ट्स पर तेजी से सिक्यॉरिटी क्लियरेंस के लिए देश भर में ऐसा किया जा रहा है।

सीआईएसएफ के अधिकारी ने कहा, ‘हैंडबैग्स की स्क्रीनिंग के दौरान बैग में कई तरह की चीजें स्क्रीन में दिखती हैं। ऐसी स्थिति में जांच में जुटे एयरपोर्ट कर्मी यात्रियों से संदिग्ध आइटम्स को बाहर निकालने को कहते हैं। फिर जांच होती है और इसमें काफी देर हो जाती है। पेन की भी जांच की जा सकती है, यदि उनका वजन अधिक लगा।’

अफसर ने कहा कि संदेह की स्थिति में हमें अपने हाथों से पूरे बैग की बाकायदा जांच करनी पड़ती है और सारा सामान बाहर निकालना पड़ता है। इससे प्रॉसेसिंग का टाइम धीमा हो जाता है। ऐसे में संदिग्ध आइटम्स की अलग से जांच होने से प्रक्रिया में तेजी आ सकेगी। इससे चेकिंग की क्वॉलिटी पर भी कोई असर नहीं होगा।

सौजन्य से: नवभारत टाईम्स

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics