एप्पल की अलग-अलग लांचिंग योजना ने बढ़ाई आइफोन की तस्करी

Image result for igi airportनई दिल्ली: आइजीआइ एयरपोर्ट पर पहले जहां सोना, गहने व ड्रग इत्यादि की तस्करी की मामले सामने आते थे। वहीं, गत दो वर्ष से तस्करी के ट्रेंड में कुछ बदलाव देखा जा रहा है। अब विदेशों से आइफोन की तस्करी के मामले सामने आ रहे हैं। ताजा दो मामले में कस्टम विभाग ने हाल के दिनों में दो मोबाइल तस्करों को गिरफ्तार भी किया है। उनके पास से भारी संख्या में एप्पल के आइफोन 7 और 7 ़ मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं। दरअसल यह स्थिति कंपनी की अलग-अलग देशों में विभिन्न तिथियों में आइफोन की लांचिंग के कारण उत्पन्न हुई है। वहीं, इसके प्रति भारतीयों में भारी क्रेज होने के कारण ग्रे -मार्केट से लोग प्रत्येक मोबाइल फोन पर 20 से 30 हजार रुपये तक ज्यादा भुगतान करने को तैयार हैं।
कस्टम विभाग ने 18 और 24 सितंबर को आइफोन तस्करी के मामले का खुलासा किया था। पहले मामले में 26 आइफोन-7 और आईफोन-7 प्लस के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया। सभी फोन 258 और 128 जीबी स्टोरेज क्षमता वाले थे। वह हांगकांग से आइफोन की तस्करी कर उसे दिल्ली लाया था। वहीं, 24 सितंबर को एक तस्कर के पास से 77 आईफोन बरामद हुए थे। मूल रूप से बिहार निवासी आरोपी हांगकांग से दिल्ली आया था। वह गत 6 वर्ष से हांगकांग में रह रहा था। आरोपी ने खुलासा किया है कि उन्होंने ग्रे मार्केट में बेचने के लिए मोबाइल फोन की तस्करी की थी।
कस्टम सूत्रों के मुताबिक मोबाइल तस्करी का यह नया ट्रेड एप्पल की योजनाओं की वजह से शुरू हुआ है। दरअसल अन्य कंपनियां जहां अमूमन पूरे विश्व में एक तिथि को मोबाइल के नए मॉडल का लांच करती है। वहीं, एप्पल की रणनीति इससे अलग है। कंपनी विदेशों में कुछ स्थानों पर नए मॉडल पहले लांच कर देती है। जबकि महीनों बाद उसे भारतीय बाजार में उतारा जाता है। वहीं मोबाइल के नए मॉडल के लांच होते ही भारत में इसे खरीदने वाले किसी भी कीमत पर उसे पाने की जुगत में लग जाते हैं। वे हजारों रुपये ब्लेक में उसे खरीदने को गुरेज नहीं करते। अधिकारी बताते हैं कि यही वजह है कि गत वर्ष भी जब एप्पल ने आइफोन-6 लांच किया था तो इसकी तस्करी में कई तस्कर धरे गए थे। इस वर्ष भी 7 अक्टूबर को भारतीय बाजार में आइफोन 7 को लांच किया जाना है।
एयरपोर्ट कस्टम ने विशेष रणनीति बनाई है। खास कर उस सेक्टर से आने वाले विमान के संदिग्ध यात्रियों पर नजर रखी जा रही है जहां आइफोन लांच हो चुके हैं। अमूमन एक आइफोन 70 हजार में आता है। तस्करों से पूछताछ में पता चला है कि ग्रे मार्केट में एक मोबाइल की बिक्री पर 20 से 30 हजार रुपये ज्यादा मिल जाते हैं। नियम के मुताबिक विदेश से भारत आने वाला प्रत्येक यात्री 50 हजार की कीमत का एक मोबाइल साथ ला सकता है। इससे ज्यादा कीमत का मोबाइल लाने पर यात्री को सीमा शुल्क का भुगतान करना होता है।
गोविंद गर्ग
डिप्टी कमिश्नर कस्टम, आइजीआइ एयरपोर्ट

सौजन्य से :  दैनिक जागरण

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics