ईमानदार कमिश्नर क ी नाक के नीचे हो रहा है भ्रष्टाचार का खुला खेल

Image result for container depotबेईमानी तेरा ही आसरा
देश के ज्यादातर भ्रष्ट अफसर तथा सीएचए कम स्मगलर इस स्लोगन को फॉलो करते हुए अरबोेंपति बन चुके हैं। मैं बार-बार लिखता हूं कि जिसकी औकात स्कूटर पर चलने की नहीं थी वह बड़ी-बड़ी गाड़ीयों में घूम रहे हैं। आज दिल्ली एनसीआर पोर्ट पर काम कम हो गया है। कहां गए पड़पड़गंज में गलत काम करने वाले? कहां गए आईसीडी तुगलकाबाद में गलत काम करने वाले? जहां-जहां कमिश्नर सख्त आते हैं वहां के काम अन्य जगह शिफ्ट हो जाते हैं।
मगर एक बात बहुत गलत हो रही है जो बहुत चिन्ताजनक है। एक क्लीरिंग एजेंट चाहता है कि मेरा नाम लिखा जाए और बात ऊपर तक पहुंचाई जाए कि आज अपरेजर, सुपरिटेंड और इन्सपेक्टर लेवल के अफसरों ने इन ईमानदार कमिश्नरों की नाक के नीचे इतनी लूट मचा रखी है कि सही काम करने वाले इम्पोर्टरों ने इनको काम देना बन्द कर दिया है। आईसीडी तुगलकाबाद में क्योंकि दूसरे पोर्टों पर रिश्वत कम देनी पड़ती है।
आज की ताजा स्थिति यह है कि जूता, चप्पल और खिलौने और भी कई कंज्यूमर आईटम बल्लभगढ़ में क्लीयर हो रही है आईसीडी तुगलकाबाद से कम कीमत पर जहां 175 रुपए में खिलौने आईसीडी तुगलकाबाद में क्लीयर हो रहे हैं और वहीं 150 रुपए में बल्लभगढ़ में हो रहे हैं। बाकी का काम लोनी पोर्ट पर चला गया है उसका कारण है एक ईमानदार डिप्टी कमिश्नर शेड है।
जो एसआईआईबी में रह कर कई स्मगलरों को सीधा कर चुके हैं। अब शेड डीसी बनकर काम कर रहे हैं। उनके कार्य करने की शैली से नीचे काम करने वाले सुपरिटेंड और अपरेजरों को फायदा पहुंच रहा है। आईसीडी तुगलकाबाद के कई बड़े स्मगलरों ने आईसीडी लोनी का रूख किया।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics