इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट में लगने वाले दस्तावेजों की संख्या घटी

नई दिल्ली : कारोबार में सुगमता बढ़ाने और कागजी काम कम करने के लिए वाणिज्य मंत्राालय ने आयात-निर्यात के लिए जरूरी दस्तावेजों की संख्या घटाकर दो कर दी है। माल के आयात-निर्यात के लिये आयात-निर्यात कोड (आईईसी) की जरूरत होती है। विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने एक अधिसूचना में कहा, आईईसी के लिए आवेदन करने के लिए अब डिजिटल फोटो के साथ सिर्फ दो दस्तावेज सौंपने की जरूरत है। इससे पहले आईसी के आवेदन के संबंध में बहुत से ब्योरों के साथ कई दस्तावेज की जरूरत होती थी जिनमें इकाई के प्रवर्तकों-भागीदारों-निदेशकों- प्रबंधन न्यासियों के ब्योरे और हस्ताक्षर करने वाले आवेदक के ब्योरे शामिल हैं। अधिसूचना में यह भी कहा गया कि इस साल एक अप्रैल से डिजिटल हस्ताक्षर के जरिए आवेदक आईईसी या आईईसी में बदलाव के लिए सिर्फ आनलाइन आवेदन कर सकते हैं। वाणिज्य मंत्रालय निर्यातकों के लिए हस्तांतरण लागत घटाने और कारोबारी सुगमता बढ़ाने के लिए कागजी काम कम करने के लिए विभिन्न विभागों के साथ काम कर रहा है। विश्व बैंक की रपट के मुताबिक भारत कारोबारी सुगमता के लिहाज से 189 अर्थव्यवस्थाओं में से 133वें स्थान पर है। भारत की रैंकिंग में सुधार के लिए मंत्रालय ने आवश्यक दस्तावेजों की संख्या घटाकर तीन कर दी है।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics