आई‍र्जीआई‍र् कार्गो टर्मिनल में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी

नई‍र् दिल्ली : आईजीआई एयरपोर्ट पर कार्यरत निजी कंपनियों में यदि आप नौकरी करने के इच्छुक हैं तो ठगों से सावधान रहें। किसी के झांसे में ना आए और ना ही बगैर जांच के उन पर विश्वास करें।
दरअसल एयरपोर्ट क्षेत्रा में नौकरी के नाम पर ठगों का एक गिरोह सक्रिय है। एक शक्स ने कार्गो में नौकरी लगाने का झांसा देकर मथुरा के एक युवक से 10 हजार रुपये और दो मोबाइल फोन ले लिए। बाद में वह फरार हो गया। काफी इंतजार के बाद जब ठग नहीं आया तो पीडि़त ने घटना की शिकायत थाने में की। धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर आईजीआई थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।
पुलिस के मुताबिक वीरेंद्र उत्तर प्रदेश के मथुरा स्थित कोसीकलां इलाके में रहता है और वह बेरोजगार है। 23 वर्षीय युवक नौकरी की तलाश में 26 मई‍र्‍र् को आईजीआई कार्गो टर्मिनल पर आया था। वहां वीरेंद्र को अमित नाम का शख्स मिला। उसने युवक को कार्गो टर्मिनल में नौकरी दिलाने का दावा किया। अमित ने कहा कि नौकरी से पहले सुरक्षा जांच के लिए 11 हजार रुपये देने होंगे। नौकरी मिलने की बात से उत्साहित रुपये लेने वह अपने गांव चला गया। गांव से पीडि़त के भाई ने अमित से कई बार फोन से बातचीत की।
बातचीत के दौरान उसने खुद को विभागीय कर्मी बता युवक को नौकरी दिलाने का दावा किया।
13 जून को वीरेंद्र और उसका भाई‍र्‍र् बनवारी कार्गो एयरपोर्ट पहुंचे। वहां वीरेंद्र ने अमित को 10 हजार रुपये और अपने दस्तावेज की कॉपी दिए। रुपये लेने के बाद ठग दोनों भाईयों को टर्मिनल-2 के समीप ले गया। वहां उसने पीडि़त के दोनों फोन भी ले लिए और एयरपोर्ट अधिकारियों से दस्तावेज जांच करा तुरंत लौटने की बात कही।
पीडि़त के भाई बनवारी ने बताया कि वे टर्मिनल-2 के समीप बने कैंटीन के पास दो घंटे तक अमित का इंतजार करता रहा। लेकिन वह वहां नहीं आया। यही नहीं उसका फोन भी बंद आ रहा था। बाद में पीडि़त ने ठगी की शिकायत आईजीआई थाना पुलिस में की।

सौजन्य से : दैनिक जागरण

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics