आईसीडी तुगलकाबाद में फिर से फूटे पटाखे डीआरआई-डीजेडयू तथा एसआईआईबी तुगलकाबाद ने पटाखे के कंटेनर पकडें

Image result for chinese patakaधर्मवीर आनंद
नई दिल्ली। तुगलकाबाद गंद के ढेर पर बना एशिया का सबसे बड़ा पोर्ट आईसीडी तुगलकाबाद स्मगलरो का स्वर्ग भ्रष्टाचार का अड्डा जहां बिना पैसे कुछ काम नहीं होता। लोग कहते है कि ऐसा क्यों लिखते हो यह मैं नहीं कहता पूरा देश कहता है बड़े-बड़े अफसर आते है इस पोर्ट का सिस्टम सुधारने के लिए कुछ हद तक सुधार होता भी है मगर बेचारे स्मगलर भी क्या करे भ्रष्ट क्लीरिंग ऐजेंटो कि पहली पसन्द का ड्राईपोर्ट है भीड़ में सब गलत काम कराने चाहते है क्योंकि गलत माल को अन्य राज्यों में भेजने में आसानी रहती हैं माल घन्टों में ठिकाने लग जाता है हमने तो कितने लोगों को कहते सुना है जो मर्जी मंगाओं सब उतरता है यहां खिलौनों में चाईनिज पिस्टलों को खेल बहुत होता है कई भ्रष्ट क्लीयरिंग ऐजेंट इस पोर्ट को अपनी जागीर समझते है जो मर्जी उतारो कोई मना नहीं। अभी कुछ पकड़े भी गए है इनको माफिया बनाने वाले कौन लोग है क्या भ्रष्ट अफसर तो नहीं हैं? कुछ दिन पहले ही पटाखें पकड़ें गए उसी कडी में सात कंटेनर और पकड़े गए डीआरआई को भारी सफलता मिल रही है। सीएचए गिरफतार होकर छूट चुका हंै इम्पोर्टर पंजाब का बताया जा रहा है इतना लंबा खेल हो रहा था। इसी तरह डीआरआई ने फर्नीचर में भारी घोटाला पकड़ा है इम्पोर्टर सिंगापुर का बताया जा रहा है सारे गलत काम का पीटारा लेकर घुम रहा था सीएचए भी गिरफ्तार हुआ आॅफिस में करोड़ों रुपए मिले। आज दिल्ली के मशहूर मार्केटो में गलत काम करने वाले इम्पोर्टरो को भ्रष्ट क्लीयरिंग ऐजेंटो ने इतनी शह दे रखी है किसी से पूछो कि मिस डिक्लरेशन का धंधा करना है तो कुछ खास भ्रष्ट ऐजेंटो के नाम बताए जाते है। पकडे़ जाने के बाद वही घिसा हुआ फॉमूर्ला लगाया जाता है विदेशों से पेपर मंगवाए जाते है माल गलती से आ गया। वकील भी अपना धंधा चमकाने के लिए नए-नए फॉमूर्ला बताते है। इन भ्रष्ट लोगों को बचाने के लिए कोर्ट में कैसी-कैसी बहस होती है। अपने क्लाइंटो को बचाने के लिए शर्म से सिर झुक जाता है। व्यपारीयों को तंग करने कि बाते कर कर अफसरों की झाड लगवाई जाती है यह गलत काम करने वालों का माफिया कब तोड़ पाएगी सरकार गिरफ्तार करती रहे। स्मगलर छूटकर फिर वही काम करते है पैसे से सब मैनेज कर लेते है। ईमानदार अफसर कब तक इनके चंगुल से बच सकता है आज भी ईमानदार कमिश्नर कि राहनुमाई में यह पोर्ट चल रहा है बहुत सालों बाद एक ऐसे कमिश्नर आए है जिनके काम करने तरीको से पूरा ट्रेड खुश है। आज कि तारीख में देखा जाए तो पोर्ट पर सभी बड़े अफसर अपना काम बखुबी से निभा रहे हैं।
एसआइआइबी तुगलकाबाद भी अपना रोल जोरदार तरीके से निभा रही है इसी कडी में एसआइआइबी ने भी आरएमएस में आए चार कंटेनर पटाखें के पकड़े है। चार कंटेनर पकड़ें जाने की खबर से अफसरों को सतर्क हो जाना चाहिए कि पटाखा स्मगलर समय से पहले सक्रिय हो गए है। वैसे तो यह मार्च में अपना काम शुरू कर देते है रेवेन्यू न्यूज सालों से सरकार को लिखता आ रहा है कि भ्रष्ट अफसर तथा भ्रष्ट क्लीयरिंग ऐजेंटो पर अगर सरकार ने अंकुश नहीं लगाया तो मुम्बई कि तर्ज पर तरह यहां भी माफिया राज होगा।
अब बहुत लोग दाऊद बनने कि फिराक में हैं आज और आज से पांच साल पहले के समय में फर्क देखो तो स्मगलिंग बढ़ी है। ड्रॉ-बैक का धंधा भी बढ़ा है जब तक सरकार फर्जी कम्पनियों कि छटाई नहीं करेगी तो यह काम इसी तरह होता रहेगा। टैक्सी कम्पनियों का बिजनेस बंद होना चाहिए।

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics