आईजीआई एयरपोर्ट पर एयरपोर्ट कर्मचारी सहित तीन गिरफ्तार

नई दिल्ली : आइजीआइ एयरपोर्ट पर कड़ी चौकसी के बावजूद सोने की तस्करी की घटना रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। कस्टम अधिकारियों की शख्ती के कारण सोना तस्कर रोजाना तस्करी के नए-नए तरीके ईजाद कर रहे हैं। ताजा मामले में कस्टम अधिकारियों ने एक तस्कर को गिरफ्तार किया है। उसने स्टील के रोलर में सोना छुपा कर रखा था। लेकिन अधिकारियों की चौकसी से वह बच नहीं पाया। वहीं अन्य मामले में अधिकारियों ने सोने तस्कर सहित उसका सहयोग करने वाले एक ग्राउंड हैंडलिंग स्टाफ को दबोचा है। दोनों के पास से साढ़े चार किलो सोना बरामद किया गया है। इसकी कीमत एक करोड़ रुपये से ज्यादा है। कस्टम अधिकारी आरोपियों से पूछताछ में लगे हुए हैं।
कस्टम कमिश्नर एसआर बरुआ ने बताया कि 28 फरवरी को एक यात्री सिंगापुर से फ्लाइट संख्या एसक्यू-402 से आइजीआइ एयरपोर्ट पर आया था। कस्टम अधिकारियों की जब संदिग्ध यात्री पर नजर गई तो उसकी तलाशी सहित उसके सामान की जांच की गई। सामान की तलाशी लेने पर पता चला कि श्रीलंकाई नागरिक अब्दुल रशीद के बैगेज में स्टील के कुछ रोलर हैं। उसने रोलर के अंदर सोना छुपा रखा था। उस रोलर से कस्टम ने ढाई किलो सोना बरामद किया। सोने की कीमत 61.70 लाख रुपये है। बाद में तस्कर को गिरफ्तार कर लिया गया।
अन्य मामला भी 28 फरवरी का है। एयरपोर्ट पर भारतीय तस्कर मो. फारिस कोथम एक ग्राउंड हैंडलिंग स्टाफ की मदद से सोने की तस्करी की जुगत में लगा था। कस्टम अधिकारियों ने बताया कि एक अधिकारी ने देखा कि वह एयरपोर्ट पर कार्यरत स्लैबी नाम की कंपनी के एक स्टाफ को इशारे कर रहा है। पास पहुंचने पर उसने एक पैकेट स्लैबी स्टाफ के पैकेट में डाल दिया। जब कस्टम अधिकारी ने उसकी जांच की तो पता चला कि पैकेट में दो किलो सोना है। इसके बाद कस्टम एक्ट 1962 के तहत सोना जब्त कर कस्टम विभाग ने तस्कर व उसकी मदद करने वाले कर्मी को गिरफ्तार कर लिया।
स्रोत : दैनिक जागरण 

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics