अब चिल्लर कारोबारियों नहीं, बड़े शराब तस्करों की कुंडली हो रही तैयार

भिलाई (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले की पुलिस शराब तस्करों के खिलाफ अब बड़ी कार्रवाई के मूड में है। होली के पहले तक चिल्हर और छोटे कोचियों पर कार्रवाई करने के बाद अब पुलिस पुराने बड़े शराब तस्करों की लिस्ट तैयार कर रही है। पुलिस को विश्वास है कि पुराने बड़े शराब तस्कर अभी भी इसी काम में लिप्त होंगे और वे बाहर से शराब लाकर खपा रहे होंगे। पुलिस जल्द ही इनके खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर सकती है।

बता दें कि दो दिन पहले ही भिलाई नगर पुलिस ने दो शराब तस्करों विवेक सोना उर्फ हड्डी और संतोष गिरी के खिलाफ कार्रवाई कर उनके पास से नौ पेटी शराब और पांच किलो गांजा जब्त किया था। इन दोनों आरोपितों में से विवेक सोना उर्फ हड्डी नशीली दवाइयों का कारोबार करता था। पुलिस को सूचना थी कि उसके पास नशीली दवाइयां हो सकती हैं। इस पर पुलिस ने छापामार कार्रवाई की और नशीली दवाइयों की जगह शराब और गांजा मिला। आरोपित विवेक सोना उर्फ हड्डी ने ही ये जानकारी दी कि उसने संतोष गिरी के माध्यम से मध्यप्रदेश से शराब मंगाई थी।

इस कार्रवाई में पुलिस के हत्थे चढ़े दोनों आरोपित पुराने अपराधी रहे हैं। इनकी गिरफ्तारी के बाद ही पुलिस ने पुराने बड़े शराब तस्करों की सूची तैयार करने की शुरुआत की है। सूची तैयार होने के बाद उनके पीछे मुखबिर लगाए जाएंगे और उनके कामकाज के बारे में पता लगाया जाएगा। इसके बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

शहर में कई बड़े शराब तस्कर हैं सक्रिय

बता दें कि जिस समय शराब दुकानें ठेके पर चलती थी, उस समय कई बड़े गिरोह अवैध शराब तस्करी में सक्रिय थे। खास कर सुपेला, खुर्सीपार, दुर्ग, भिलाई-3, जामुल, नेवई, उतई और नंदिनी क्षेत्र में ज्यादा कोचिए सक्रिय थे। शराब दुकानों का ठेका बंद होने के बाद इन कोचियों को ज्यादा मात्रा में शराब मिलना बंद हो गया। कोचियों ने इसका भी रास्ता निकाल लिया और मध्यप्रदेश से लाकर शराब खपाने लगे। शुरुआती समय में इन तस्करों ने राजनांदगांव जिले से होकर शराब लाने की शुरुआत की, लेकिन वहां पर शराब पकड़े जाने के बाद रूट बदल दिया। तस्करों ने कवर्धा रूट को नया रास्ता चुना और वहां से शराब लेकर जिले में आने लगे। पुलिस ने दावा किया है कि वो अब जल्द ही बड़े शराब तस्करों के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है।

 

होली के दौरान छोटे पैमाने पर शराब बेचने वालों पर काफी कार्रवाइयां हुई हैं। अब बड़े तस्करों पर कार्रवाई करने की योजना है। जिले में बड़े शराब तस्कर सक्रिय हैं या नहीं, इस पर नजर रखी जा रही है। यदि कहीं भी शराब तस्करी की जानकारी मिली तो उनके खिलाफ जरूर कार्रवाई की जाएगी।

 

सैजन्य से: नई दुनिया

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics