अगले साल से कस्टम्स मंजूरी होगी कागजरहित

  मुंबई : अगले साल से आयात आसान हो जाएगा क्योंकि केंद्रीय उत्पाद व सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआरई) कागजरहित प्रक्रिया अपनाने की योजना बना रहा है और उसकी दस्तावेजों के सुगमीकरण के लिए पूरी तरह एकीकृत सीमा शुल्क प्रणाली अपनाने मंशा है। इसके साथ ही बोर्ड खेपों को मंजूरी में तेजी ला रहा है।
सीबीआरई की अपनी स्विफ्ट प्रणाली के तहत और सरकारी एजेंसियों को शामिल करने की योजना है। इसके तहत नौ अलग-अलग दस्तावेज एक सामान्य इलेक्ट्रोकि घोषणा में आ जाएंगे। अतिरिक्त महानिदेशक (सीमा शुल्क) सी के विमलनाथन ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, अगले छह और महीने में हमारी पूरी तरह इलेक्ट्रोनिक होने की योजना है जिसमें किसी तरह के दस्ती दस्तावेज की जरूरत नहीं होगी। हमारी एक वेब रेपोजेटरी बनाने की योजना है।
सीबीईसी ने व्यापार को बढावा देने के लिए एक अप्रैल को एकल बिंदु वाला इंटरफेस स्विफ्ट शुरू किया। इसके तहत एक जून 2016 तक लगभग दस लाख दस्तावेजों को प्रसंस्कृत किया गया। उन्होंने कहा, आयातकों को अब भी विभिन्न दस्तावेजों की वास्तविक प्रतियां दिखानी होती हैं। हम आयातकों को इन दस्तावेजों को स्कैन कर उन्हें पीडीएफ रूप में अपलोड करने की सुविधा देना चाहते हैं जो कि सीमा शुल्क अधिकारियों को लिंक के रूप में उपलब्ध कराया जाएगा। सीबीईसी ने अपनी मौजूदा सीमा शुल्क प्रणाली के एकीकरण के लिए आईटी कंपनियों से आग्रह प्रस्ताव आमंत्रित किए हैं।
सौजन्य से: इंडिया टीवी पैसा

Leave a Reply

*

You are Visitor Number:- web site traffic statistics